Wednesday, Apr 14, 2021
-->
delhi police murder january tihar jail sobhnt

IS आतंकी जेल में कर रहे थे साजिश, पारा से मर्डर का था प्लान

  • Updated on 3/6/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। जनवरी के शुरुआत में दिल्ली पुलिस (Delhi police) ने एक कॉल को इंटरसेप्ट किया था। इस कॉल में उन्होंने आम कैदियों की तरह घर से अच्छा खाना और पैसे की बात न करते हुए। उन्होंने उसमें पारा गंगने क बात कही थी। जिसके बाद पुलिस सतर्क हो गई। पुलिस ने कहा कि उन्होंने उस समय एक टीम बना दी । जो दोनों कॉलर पर अपनी नजर रखे हुए थे।  जिसके बाद इन्हें बता चला कि आरोपी दिल्ली दंगों में गिरफ्तार दो आरोपियों को मारने का प्लान कर रहे थे। यह लोग जिनको मारने का प्लान बना रहे थे। वह भी तिहाड़ जेल में सजा काट रहे थे। पुलिस ने आरोपियों की रिमांड ले ली है।

TMC की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने केंद्र को लिखा पत्र, पीएम की फोटो हटाने का दिया आदेश   

शाहिद को मिला था टारगेट
बता दें दिल्ली पुलिस को जैसे ही इसकी जानकारी मिली उन्होंने दोनों को पकड़ लिया है। जेल में बंद आरोपी का नाम शाहिद और कॉल करने वाले आरोपी का नाम असलम था। पुलिस ने सबसे पहले असलम से बात की असलम ने बताया कि उसे यह सब शाहिद ने करने को कहा था। शाहिद ने उसे कहा था कि वह दो लोगों का हत्या करना चाहता है। जिसके लिए उसे पारा चाहिए। असलम ने इसके लिए बाहर मेडिकल की दुकान से 100 से ज्यादा थर्मामीटर खरीदे और उन्हें तोड़कर उसमें से पारा निकाल लिया। असलम  ने बताया कि उसे यह नहीं पता था कि किसकी हत्या की जानी है। 

नेशनल बुक ट्रस्ट के संपादक पर यौन शोषण का केस दर्ज, लगे ये गंभीर आरोप

बताया ISIS से था प्रेरित
उसके बाद पुलिस ने जब शाहीद की रिमांड ली गई तो उसने बताया कि उसे दो आईएसआईएस (ISIS) के लोगों ने ऐसा करने का कहा था। उनका कहना था कि जिन लोगों को वह मारने जा रहा है। उन लोगों ने दिल्ली दंगों की साजिश रची थी और एक मस्जिद के अलावा कई उसके समुदाय के लोगों को भी मारा था। इसलिए वह उन्हें मारना चाह रहा था। वह कहता है कि उसे आईएसआईएस की विचारधारा पसंद है। उस आईएसआईएस के लोगों ने ही इसकी जानकारी दी थी। 

भ्रष्टाचार मामले में सत्येंद्र जैन के पूर्व ओएसडी को अदालत ने किया आरोप मुक्त

शाहिद है खतरनाक क्रिमिनल
बता दें शाहिद कोई छोटा मोटा क्रिमिनल नहीं है। वह सामूहिक यौन उत्पीड़न से लेकर दो बच्चों की मौत में भी शामिल रह चुका है। उसका प्लान था कि एक शीशी में पारा लाकर जेल के अंदर लाया जाए। उसके बाद फिर उन अपराधियों से लड़ाई की जाए। लड़ाई के दौरान ही उनके शरीर में पारा डाला जाए। जिससे धीरे-धीरे करके उन दोनों की मौत हो जाएगी। वह लोग भी तिहाड़ जेल में ही बंद हैं।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.