Tuesday, Dec 07, 2021
-->
dinesh trivedi furious over pk and mamta banerjee pragnt

पीके और ममता बनर्जी पर भड़के दिनेश त्रिवेदी, कहा- TMC को परिवारवाद से निकलना होगा बाहर

  • Updated on 2/17/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पिछले हफ्ते राज्यसभा (Rajya Sabha) से इस्तीफा देने और तृणमूल कांग्रेस (TMC) छोड़ने की वजह को लेकर पूर्व टीएमसी नेता दिनेश त्रिवेदी (Dinesh Trivedi) ने एक मीडिया हाउस से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी पर जमकर निशाना साधा है। 

पश्चिम बंगाल में भी सभाएं करेंगे किसान नेता, बढ़ सकती है भाजपा की मुश्किलें

होता था अभद्र भाषा का इस्तेमाल
ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के बारे में बात करते हुए पूर्व टीएमसी नेता दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि  ममता बनर्जी ने अभिषेक को काफी बढ़ावा दे दिया है। जिसके कारण अब काफी परेशानी आ रही है। इतना ही नहीं वह बहुत ही अभद्र भाषा में बात करते हैं जो संस्कृति के बिल्कुल भी अनुकुल नहीं है। ऐसे में अब वो वक्त आ गया कि जब हमे परिवारवाद से बाहर निकलना होगा।

आत्मनिर्भर भारत को लेकर NTLF सम्मेलन में बोले PM मोदी- डिजिटल ट्रांजेक्शन से घटा कालाधन

बीजेपी की तारीफ
उन्होंने आगे कहा कि अभिषेक हो या फिर कोई भी हो चुनावी क्षेत्र में जाने के लिए हेलीकॉपटर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। हम उस वक्त से राजनीति में हैं जब वो बच्चे थे। इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी और वाम दलों की तारीफ करते हुए कहा कि उन पार्टियों में भाई- भतीजा वाद देखने को नहीं मिलता है। 

J-K: दो दिवसीय दौरे पर घाटी पहुंचे विदेशी प्रतिनिधि दल, स्थानीय लोगों से की बातचीत

पीके की टीम के पास हैं सभी के सोशल अकाउंट
इसके साथ ही प्रशांत किशोर पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि पीके की टीम के पास तृणमूल नेताओं के सोशल मीडिया अकाउंट के पासवर्ड तक हैं। इतना ही नहीं कई बार पीएम मोदी और राज्यपाल के लिए अभद्र भाषा को लेकर कई ट्वीट किए गए थे। उन्होंने आगे कहा कि खून- पसीने से खड़ी की गई पार्टी को एक करोड़ों रुपए देकर हायर किए गए एक कंपनी का कर्मचारी बताता है कि हमें क्या करना है और रैलियों में कैसे बोलना है।

टूलकिट मामले निकिता जैकब को बॉम्बे HC से बड़ी राहत, मिली 3 सप्ताह की ट्रांजिट बेल

इस्तीफा देते हुए त्रिवेदी ने कहा था ये
इस्तीफा देते वक्त त्रिवेदी ने कहा था कि पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा और कुछ नहीं कर पाने से उन्हें घुटन महसूस हो रही है। राय ने कहा कि त्रिवेदी की सीट राज्यसभा की दीर्घा में आवंटित है लेकिन वह नीचे परिषद चेंबर के अंदर आए और अपनी पसंद की सीट से असंबद्ध विषय पर बोलना शुरू कर दिया। राय ने आरोप लगाया कि बजट पर चर्चा के दौरान इस प्रकार के अनधिकृत हस्तक्षेप को रोकने के लिए आसन ने कोई कार्रवाई नहीं की, उन्होंने उसी पार्टी के खिलाफ बोला जिसमें वह थे और सदन में अपने प्रस्तावित इस्तीफे को सही साबित करने के लिए उन्होंने एआईटीसी के खिलाफ बेबुनियादी आरोप लगाए।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 

comments

.
.
.
.
.