Sunday, Sep 26, 2021
-->
east ladakh mm naravane indian army china pla pakistan sobhnt

पाक-चीन को आर्मी चीफ नरवणे ने दिया जवाब, हरकतों का पता था, नीयत नहीं भांप सके

  • Updated on 1/12/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) में जारी गतिरोध के बीच भारतीय सेना प्रमुख एमएम नरवणे ( MM Naravane) ने चीन और पाकिस्तान की साजिशों पर उसे जवाब दिया है। चीन के हुए सैन्य तनाव को लेकर आर्मी चीफ एमएम नरवणे ने कहा है कि हम चीन के हरकतों से वाकिफ हैं मगर उसकी नीयत को नहीं भांप सके थे। वह कहते हैं कि हमें पता था कि चीन सैनिक वहां है मगर हमें यह अंदाजा नहीं था कि चीन ऐसा कर देगा। एमएम नरवणे ने कहा है कि भारतीय सेना पूर्वी लद्दाख से लेकर उत्तरी बॉर्डर पर हाई एलर्ट मोड में है। वह कहते हैं हम वक्त आने पर इसका जवाब देंगे। 

केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक से मिलने गोवा जाएंगे राजनाथ सिंह, सड़क हादसे में हुए थे घायल

हमें पता था मगर नीयत नहीं भांप सके
पूर्वी लद्दाख में हुई हिंसक झड़प पर आर्मी चीफ ने कहा था कि हमें पता था कि चीनी सैनिक ट्रैनिंग के लिए हर साल वहां आते हैं। यह किन जगहों पर आते हैं हमें यह भी पता था मगर फस्ट मूवर चीन को था। जिसकी किसी को जानकारी नहीं थी। नरवणे ने कहा कि हमें पूर्वी लद्दाख में चीन की हरकतों का पता था मगर हम उसकी नीयत को नहीं भांप सके। वह कहते हैं कि पिछला साल चुनौतियों से भरा हुआ था।  

वह कहते हैं कि बॉर्डर पर तनाव था और पूरे देश में संक्रमण का भी खतरा था मगर इसका कामयाबी से सामना किया गया था। वह कहते हैं कि हम चीन के साथ आठ दौरे की बातचीत कर चुके हैं। आगे और बातचीत करने की कोशिश की जाएगी। सेना इस मामले का सकारात्मक तरीके से हल निकालेगी।     

जम्मू की TADA कोर्ट में रूबिया सईद अपहरण मामले में अलगाववादी नेता यासीन के खिलाफ आरोप तय

10 हजार से ज्यादा सैनिक भागे
पूर्वी लद्दाख (Ladakh) की वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास से खबर आ रही है कि कड़कड़ाती सर्दी को ध्यान में रखते हुए चीन ने अपने 10 हजार से ज्यादा सैनिकों को वहां सीमा के नजदीक से हटा लिया है। चीनी सरकार ने यह निर्णय लद्दाख के डेप्थ इलाको में बढ़ रही सर्दी के बाद लिया है। बताया जा रहा है कि भारतीय सेना ने अपने जवान यहां से नहीं हटाए है। बता दें दोनों देशों के बीच अप्रैल-मई से LAC पर टकराव की स्थिति बनी हुई है। जिसके बाद दोनों देशों की सेना एक दूसरे के सामने बैठी हुई हैं।  

बुमराह ब्रिसबेन टेस्ट से बाहर, अग्रवाल को नेट पर चोट लगी, अश्विन की पीठ में जकड़न

भारतीय जवान मजबूती के साथ खड़े
बता दें लद्दाख की इसी सर्दी में भारतीय जवान मजबूती के साथ डटे हुए है। भारतीय सेना ने अपने जवानों को इन इलाकों से वापस नहीं बुलाया है। नहीं इन इलाकों में भारतीय जवानों को रहने में कोई दिक्कत आ रही है। हालांकि चीन ने फ्रंटालाइन से अपने सैनिकों को नहीं हटाया है। चीन ने अभी वहां से अपने हथियार भी नहीं हटाए हैं। जिन्हें देखकर लग रहा है कि सर्दी कम होने के बाद चीनी सेना एक बार फिर से बुलाई जा सकती है।     

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.