Thursday, Feb 09, 2023
-->
ex-essar-employee-slams-lawyer-uppal-who-in-turn-shows-emails-to-‘establish-link’

एस्सार फोन टेपिंग : सुुबूत पेश करने वाले ने मामले को बताया झूठा!

  • Updated on 6/18/2016

नई दिल्ली (टीम डिजिटल): एस्सार ग्रुप द्वारा मोदी सरकार के कई  नेताओं सहित कई बड़े व्यापारियों के फोन टेप करने के मामले में अब एक नया मोड़ आ गया है। दरअसल वकील सुरेन उप्पल द्वारा एस्सार के जिस पूर्व कर्मचारी से सुुबूत प्राप्त होने का दावा किया था उसी कर्मचारी ने अब पूरी कहानी को झूठा बता दिया है। उनके ये कहने के बाद से पूरा मामला पलट गया है।

ऐसे में एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक, अलबसीत खान नाम के उस कर्मचारी ने आरोप लगाया है कि सुरेन उप्पल ने यह सारा खेल रसूखदार लोगों से पैसे ऐंठने के लिए किया है। उसने कभी भी उप्पल से संपर्क नहीं साधा। खान का कहना है कि जब उप्पल की बात को एस्सार कंपनी में सब लोगों ने अनसुना कर दिया तो उन्होंने मीडिया का सहारा लेकर एस्सार को बदनाम करने की साजिश रची।

खुलासा! एस्सार ग्रुप ने केंद्रीय मंत्रियों और अंबानी बंधुओं के फोन टैप कराए

वहीं, दूसरी तरफ, सुरेन ने कहा है कि मैंने अपनी शिकायत प्रधानमंत्री को भेज दी है कि एस्सार ने अलबासित को मना लिया है। उप्पल ने कहा है कि मैं इस बारे में एक पीआईएल दायर करूंगा और सभी सबूतों को टेप के साथ सुप्रीम कोर्ट में सौंपूंगा। मेरी कई बार खान से ई-मेल और मैसेज में बात हुई है।

जबकि अलबासित खान को एस्सार कंपनी का पूर्व कर्मचारी बताया जा रहा है और वकील सुरेन उप्पल का दावा है कि अलबासित ने ही उन्हें बताया था कि एस्सार कंपनी ने उसे फोन टैपिंग का संचालनकर्ता बनाया था और अलबासित ने उप्पल को सारे टेप मुहैया कराए जिनमें तमाम राजनितिज्ञों सहित कई वीवीआईपी लोगों के फोन टेप किए गये थे । मैंने कभी भी उप्पल को इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी। अलबासित ने कहा कि उप्पल रसूखदार लोगों से पैसा वसूलने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

अब परिवार को बचाने के लिए कानून हाथ में ले सकता है व्यक्ति

जैसा कि आपको बता दें, 1 जून 2016 को की गई शिकायत के अनुसार उन्हें यह जानकारी एस्सार ग्रुप के उसी कर्मचारी से मिली है जिसने यह कॉल टेप किए थे। शिकायत के अनुसार जिन लोगों का फोन टेप किया गया उसमें मौजूदा रेल मंत्री सुरेश प्रभु, पूर्व मंत्री प्रफुल्ल पटेल, राम नाइक, रिलाइंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी, उनकी पत्नी टीना अंबानी, प्रमोद महाजन और अमर सिंह भी शामिल हैं।

इन लोगों के साथ ही मौजूदा गृह सचिव राजीव महर्षि, आईटीबीआई बैंक के चेयरमैन पीपी वोहरा, आसीआसीआई बैंक के पूर्व रूष्ठ और एमडी कीवी कमाथ और पूर्व सीआईओ बैंक के ही पूर्व ज्वाइंट मैनेजिंग डायरेक्टर का नाम भी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें…एंड्रॉएड ऐप के लिए यहांक्लिक करें.

comments

.
.
.
.
.