Thursday, Jan 20, 2022
-->
farmers'''' movement took 11 months in delhi, demonstrations across the country

किसान आंदोलन को दिल्ली में 11 महीने हुए, देश भर में हुए प्रदर्शन, राष्ट्रपति को भेजे ज्ञापन

  • Updated on 10/26/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। किसान आंदोलन दिल्ली के बॉर्डर्स पर 11 महीने पूरे हो चुके हैं और आज किसानों ने देशव्यापी विरोध प्रदर्शन किए गए। किसानों ने आज दोहराया कि करोड़ों अन्नदाता गंभीर कठिनाइयों से जूझते हुए तीन कृषि कानूनों को वापिस लेने की मांग कर रहे हैं। 
किसानों ने की आजीविका को अनियमित बाजारों में कॉर्पोरेट लूट से बचाया जाए। किसानों ने दावा किया कि मंगलवार को पूरे देश भर में विरोध प्रदर्शन, धरने आयोजित किए गए। 
     किसानों ने पूरे देश भर में जिला मुख्यालय जाकर राष्ट्रपति के नाम पर ज्ञापन देकर लखीमपुर खीरी में किसानों की निर्मम हत्या के संबंध में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। ज्ञापन में उन्होने कहा कि 3 अक्तूबर, 2021 को हुए लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड के बाद 3 सप्ताह से अधिक समय बीत चुका है और जैसे जांच हो रही है उससे निराशा है। उच्चतम न्यायालय तक कई प्रतिकूल टिप्पणी कर चुका है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की केंद्र सरकार की नैतिकता की कमी से स्तब्ध है, जहां अजय मिश्रा टेनी मंत्रिपरिषद में राज्य मंत्री बने हुए हैं। 
    संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने राष्ट्रपति से कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अजय मिश्रा टेनी को उनके पद से तत्काल बर्खास्त किया जाए। हत्या, अन्य आरोपों के अलावा में धारा 120-बी के तहत आपराधिक साजिश में उनकी भूमिका के लिए तुरंत गिरफ्तार किया जाए। किसानों ने कहा कि हम यह भी मांग करते रहे हैं कि इस घटना की जांच उच्चतम न्यायालय की प्रत्यक्ष निगरानी में एसआईटी से कराई जाए।

किसान नेताओं ने कहा कि रिपोर्टों से पता चलता है कि आशीष मिश्रा टेनी के साथ ऐसा व्यवहार किया जा रहा है जैसे किसी भी अन्य हत्या आरोपी के साथ नहीं किया जाता है। उसे शुरू में संदिग्ध डेंगू होने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था और केवल बाद के नमूने में डेंगू संक्रमण की पुष्टि हुई। साथ ही उनके साथ रहने के लिए एक अटेंडेंट भी उपलब्ध कराया गया है। किसानों ने सभी कैदियों को ऐसी सुविधाओं की मांग करते हुएक हा कि आशीष मिश्रा को केवल गृह मंत्री का बेटा होने के कारण कोई विशेष सुविधा नहीं मिलना चाहिए। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.