Monday, Sep 27, 2021
-->
Farmers will make toll plazas free in UP, announced before the bandh

यूपी में टोल प्लाजा फ्री कर देंगे किसान, बंद से पहले किया ऐलान

  • Updated on 9/11/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। करनाल में धरना प्रदर्शन खत्म होने के बाद अब किसानों ने भारत बंद और मिशन उत्तर प्रदेश पर पूरा ध्यान केंद्रित कर लिया है। वहीं आज संयुक्त किसान मोर्चा ने केंद्र की मोदी सरकार पर एमएसपी को लेकर हमला बोला और कहा कि कई वर्षों से किसानों की आय दोगुनी करने के मायावी लक्ष्य का स्वप्न दिखाया जा रहा है। किसानों की आय छह साल में यानी 2022 तक दोगुनी करने के लिए 2016 में किए गए वादे की समय सीमा कुछ ही महीने दूर है। 
    हकीकत ये है कि लागत के आधार पर सभी कृषि उत्पादों पर लाभकारी न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी रूप से गारंटी देने की किसानों की मांग को ठुकराते हुएए मोदी सरकार ने भूमि के मालिक कृषि घरानों के लिए प्रति माह केवल 500 रुपये का प्रत्यक्ष आय हस्तांतरण करने का विकल्प चुना है। इसे भी 2019 के चुनावों के लिए चुनाव पूर्व स्टंट के रूप में किया गया था। अब मोदी सरकार के जुमले पर रिपोर्ट कार्ड से आधिकारिक रूप से स्पष्ट हो गया है। एनएसओ के 77वें दौर के सर्वेक्षण से पता चलता है कि 50 प्रतिशत से अधिक कृषि परिवार कर्ज में हैं और पिछले पांच वर्षों में किसानों के कर्ज में 58 फीसद की वृद्धि हुई है।
      मोर्चा नेताओं ने कहा कि खेती की आय में कमी हुई है इसलिए किसानों के लिए लाभकारी एमएसपी की कानूनी गारंटी दी जाए। वहीं मोर्चा की उत्तर प्रदेश इकाई ने 27 सितम्बर के भारत बंद को ऐतिहासिक बंद बताते हुए कहा कि इसमें पूरे यूपी के किसानों की भागीदारी होगी। मिशन यूपी के तहत किसान सभी भाजपा और सहयोगी दलों के नेताओं के खिलाफ  विरोध प्रदर्शन करेंगे। इसके साथ ही पूरे यूपी में टोल प्लाजा भी मुक्त करेंगे। जबकि दिल्ली में भारी बारिश से सभी बॉर्डर पर पानी भर गया और किसानेां के तंबू उखड़ गए। बावजूद इसके सभी किसान अपने तंबू, ट्रॉलियों में जमे हुए हैं। 

comments

.
.
.
.
.