Thursday, Feb 09, 2023
-->

फारूक का तंज, कहा- चीन को चुनौती नहीं दे सकता भारत

  • Updated on 7/17/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। आज राष्ट्रपति चुनाव के लिए सभी विधायकों ने वोट डाले। वोट डालने के लिए जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री फारूक अब्‍दुल्‍ला भी संसद पहुंचे। उन्होंने सोमवार को भारत-चीन रिश्‍ते में सुधार न होने की बात कहते हुए ताना मारते हुए कहा कि चीन अधिकृत कश्‍मीर को बीजिंग से वापस लेने के लिए भारत के पास ताकत नहीं है।

लेकिन शायद वे 1967 का वाक्या भूल गए जब नाथू ला पर भारत ने चीनी सैनिकों को खदेड़ा था और 1987 में तवांग(अरुणाचल) के सोमदोरुंग में चीन की नापाक हरकत का सेना ने जवाब दिया था।।

पनामागेट मामला: पाक SC ने नवाज शरीफ के परिवार के खिलाफ सुनवाई की शुरू

फारूक ने कहा कि लद्दाख में चीन ने अक्‍साई चीन पर कब्‍जा जमाया हुआ है। हम इस बारे में चिल्‍लाए लेकिन हमारे पास इसे वापस लेने की ताकत नहीं। उन्‍होंने आगे कहा कि चीन के साथ दोस्‍ती ही तनाव के समाधान का एकमात्र जरिया है क्‍योंकि युद्ध इसका समाधान नहीं है। 

उन्‍होंने कहा कि भारत को अपने राजनयिक रिश्‍तों को बढ़ाना चाहिए और इससे ही मामले को सुलझाया जा सकेगा। उनके अनुसार, चीन का मकसद काराकोरम बाइपास बनाना है जो सिल्‍क रूट का हिस्‍सा होगा और उन्‍हें पोर्ट से जोड़ेगा। यह चीन अधिकृत क्षेत्र से होकर गुजरेगा। इसके अलावा दलाई लामा भी एक मुद्दा है। वे उन्‍हें देश से बाहर भेजने को कह रहे हैं। भारत किसी को आश्रय देना जानता है देश से बाहर निकालना नहीं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.