Monday, Oct 03, 2022
-->
finally kapil dev broke silence on the farmers movement anjsnt

रिहाना- मिया खलीफा के किसान आंदोलन में कूदने से कपिल देव खफा, कहा- सर्वोच्च है देश

  • Updated on 2/5/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। किसान आंदोलन में विदेशी हस्तियों के ट्वीट से भारत में हड़कंप मचा हआ है। अमेरिकी पॉप सिंगर रेहाना और ग्रेटा ने किसान आंदोलन का समर्थन दिखाया है जो काफी हैरान कर देने वाला है। विदेशी हस्तियों के समर्थन के बाद अब टीम इंडिया के पूर्व कप्तान कपिल देव का ट्वीट सामने आया है।

कपिल देव ने ट्वीट करते हुए लिखा- मैं भारत से प्यार करता हूं मैं चाहता हूं कि किसान और सरकार के बीच सब कुछ ठीक हो जाए। एक बात तो साफ है कि देश सर्वोच्च है उससे ऊपर कोई नहीं आता।

आपको बता दें कि स्वीडन की 18 साल की पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने भारतीय आंदोलन को लेकर काफी अलर्ट  दिखाई दे रही हैं। हाल ही में ग्रेटा ने किसान आंदोलन को लेकर एक ट्वीट किया जिसे बाद में डिलीट कर दिया। ग्रेटा ने अपने उस ट्वीट के साथ एक डॉक्यूमेंट भी शेयर किया था।

ग्रेटा ने शेयर किया था एक डॉक्यूमेंट
बता दें कि ग्रेटा ने जिस डॉक्यूमेंट को शेयर किया था, उसमें भारत सरकार पर किसान आंदोलन के समर्थन में अंतर्राष्ट्रीय दबाव बनाने की पूरी प्लानिंग साझा की गई थी। जब ग्रेटा को इस ट्वीट के लिये ट्रोल किया जाने लगा तो उन्हें अपनी गलती का एहसास हुआ और उन्होंनो आनन-फानन में इस ट्वीट को डिलीट कर दिया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी, कई लोगों ने इस ट्वीट का स्क्रीनशॉट ले लिया था और इसे धड़ल्ले से सोशल मीडिया पर शेयर पर किया जाने लगा। ट्विटर पर देखते ही देखते ग्रेटा की इस पोस्ट को लेकरएक्सपोज ग्रेटा ट्रेंड करने लगा।

भारत के खिलाफ कैंपेन का प्लान ट्वीट कर बुरी फंसी ग्रेटा, कंगना ने कहा- एक ही टीम में सारे पप्पू

विदेशी हस्तियों को सरकार की नसीहत, Farmers Protest पर जांच- परख कर बोलें

क्या है पूरा मामला?
थनबर्ग ने जो ट्वीट किया था उसमे उसने भाजपा और आरएसएस  को फासीवादी सत्ता बताया है। अपने उस ट्वीट के साथ ही ग्रेटा ने एक दस्तावेज भी शेयर किया था। जिसमे किसान आंदोलन को उग्र बनाने का पूरा प्लान था।इसके साथ ही ट्वीट के जरिए ग्रेटा ने अपील करते हुए कहा कि देश में अशांति फैलाने और इस आंदोलन को भड़काने की पूरी कोशिश करे।  4और  5 फरवरी  को 11 बजे से दिन के 2 बजे तक ट्विटर पर तूफान मचा दे। ग्रेटा इतने पर नहीं रुकी। ग्रेटा ने एक ईमेल भी भेजा है कहा कि इस इमेल आईडी पर तस्वीर और वीडियो शेयर करने की अपील की है। इसके अलावा  भारतीय दूतावास , मीडिया संस्थान और अन्य दफ्तरों के बार भ भी  13-14 फरवरी को आंदोलन करें।

किसान आंदोलन को लेकर बीजेपी का विपक्ष पर हमला, कहा- इसे दूसरा शाहीन बाग ना बनाएं

उठ रहे सवाल
ग्रेटा ने द्वारा शेयर किए गए डॉक्यूमेंट को लेकर कई तरह के सवाल उठने लगा। फाइल को देखकर स्पष्ट रूप से पता चल रहा था कि ये एक मुहिस के तहत किया गया कार्य है। इसके तुरंत बाद विदेश मंत्रालय हरकर में आ गया और एक बयान जारी कर कहा कि विदेशी हस्तियां बिना किसी तथ्य को जाने हैशटैग कैंपेन में न फंसें।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.