Wednesday, Oct 05, 2022
-->
how delhi has become a hotbed of drug smuggling sosnnt

आखिर क्यों सैक्स और ड्रग्स की गिरफ्त में घिरती जा रही दिल्ली? क्या है ऐसा चक्रव्यूह?

  • Updated on 3/28/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। धंधा है गंदा,लेकिन मजेदार,भंवर में फंसी है दिल्ली राजधानी
क्या आप जानते है,राजधानी में नशा और सैक्स कितनी आसानी से मिल जाता है। इंटरनेट और सोशल मीडिया एक इसका आसान रास्ता है,लेकिन राजधानी दिल्ली में अगर किसी को सैक्स और नशे की चाह तो उसके लिए राजधानी काफी मजफूज मानी जाती रही है। दिल्ली महिला आयोग और नेशनल क्राइम ब्यूरों के रिकार्ड भी इस बात का इशारा करते है कि स्कूल,फार्म हाऊस,झु'गी सहित राजधानी के अधिकांश इलाकों में नशेे का खुला कारोबार होता है। उसी तरह सेक्स भी बड़ी ही आसानी से मिल जाता है। ये आपको स्पा सेंटर, घरों में कमरों में चलने वाले(चकला-घर) सहित आलीशान कोठियों और फार्म हाऊस में आसानी से मिलता है। इसी पर अंकुश लगाने के लिए अब पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने चाबूक चलाया है और स्पेशल टीम का गठन किया है,जो स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच के नेतृत्व में कार्य करेगी। पुलिस आयुक्त के मुताबिक इससे जहां राजधानी के युवा गलत राह पर चल रहें है,वहीं क्राइम आंकड़ों पर इसका असर दिखता है साथ ही पुलिसिंग पर भी सवाल उठते हैं,नतीजतन अब इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसी के चलते नया प्लान भी तैयार किया गया है,आखिर क्या है प्लान,और दिल्ली में कितनी आसानी से नशा और सेक्स आपको आसानी से मिलता है,इसी पर नवोदय टाइम्स के लिए संजीव यादव की  विशेष रिपोर्ट।

सैक्स और नशे के गिरफ्त में ऐसे फंसी दिल्ली

सैक्स का शिंकजा
 सोशल मीडिया भी कमाल की जगह बन चुकी है, जो मांगो सो तो हाजिर है ही, आप जितना मांगेंगे उससे 'यादा भी आपको परोसा जा सकता है या कहिए कि आपके मांगने से 'यादा भी आपको अगर परोस दिया जाए तो हैरत मत होइिए। आनलाइन सेक्स सोशल मीडिया में दो तरीको से होता है। एक डेटिगं एप के जरिए तो दूसरा सोशल साइटों पर आनलाइन ऐप पर पैसे के जरिए किया जाता है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के तहत अमेरिका और ब्रिटेन में जहां 2016 तक पोर्न और एडल्ट एप सहित आनलाइन का कारोबार था,लेकिन वहीं 2016 के बाद ये कारोबार भारत देश में तेजी से बढ़ा है, मौजूदा समय में भारत में सोशल मीडिया के ट्रैफिक पर पोर्न और आनलाइन ऐप नेटवर्किग का 52 फीसदी ट्रैफिक रहता है।  इंटरनेट पर सर्च करने वालों में दिल्ली का नंबर तीसरे स्थान पर आता है। जाहिर है ऐसे में इसका क्राइम पर असर पड़ता है।

दिल्ली में ऐसे परोसा जा रहा है सैक्स
हाल में दिल्ली पुलिस को महिला आयोग की तरफ से एक रिपोर्ट सौंपी गई,जिसके तहत बताया गया कि राजधानी में किस तरह से सैक्स कारोबार बड़े पैमाने पर किया जाता है। ये रिपोर्ट एक एनजीजो द्वारा रिसर्च आधार पर तैयार की गई। जिसके तहत बताया गया कि राजधानी में सैक्स का कारोबार होटल,फार्महाऊस,रेस्तरां के साथ घरों के अंदर तक पैर पसार चुका हैं। राजधानी में अधिकांश छोटे होटल केवल इन्हीं के बलबूतों पर चल रहें हैं,जहां पर महज 700 रुपए से लेकर 3 हजार रुपए के बीच आपको मनचाही सुरक्षित जगह मिलती है,साथ ही पैसे देकर सैक्स भी खरीदा जाता है। ठीक उसी तरह बाहरी दिल्ली के अधिकांश फार्म हाऊस बाकायदा सेक्स पार्टी के लिए बुक किए जाते है,जिनके लिए 15 हजार से लेकर 25 हजार तक की बुकिंग होती है,जिसमें डांस पार्टी होती है और उसके बाद बाकायदा अपने रेट तय कर आन डिमांड सेक्स को खरीदा जाता है। हाल में दिल्ली पुलिस ने आयो होटल की चेन में ऐसे बड़े कारोबार की बू हाथ लगी,जिसके बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच ने राजधानी के करीब 30 से अधिक ओयो के होटलों में रेड मारी और कई सेक्स वर्कर व दलालों को पकड़ा। रिपोर्ट में ये बात भी सामने आई है कि मोहल्लों,गालियों और बड़े आलीशान कोठियों में देह  व्यापार धड़ल्ले से किया जा रहा है। यहां पर आपको बाकायदा इंटरनेट के माध्यम से नंबर मिलता है और उसके जरिए आप सीधे वहां पहुंच सकते है।

स्पा सेंटर मुख्य अडडे

राजधानी में रजिस्टर्ड महज 157 ही स्पा सेंटर रजिस्टर्ड है,लेकिन पुलिस के रिकार्ड के मुताबिक ये संख्या तीन गूना से 'यादा है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालिवाल ने जब इन स्पा सेंटरों का निरीक्षण कर रेड मारी तो औसतन 5 में से 4 स्पा सेंटरों में सेक्स रेकेट पकड़ा गया। इसी तरह हाल में क्राइम ब्रांच ने साऊथ,नार्थ और ईस्ट दिल्ली में स्पा सेंटर पर रेड मारी,जिसमें भी पाया गया कि औसतन 10 में से 8 स्पा सेंटरोंं में बाकायदा तय रेट के हिसाब से सेक्स परोसा जाता है।

सोशल मीडिया पर ऐसे बिकता है सैक्स
आनलाइॅन में फेमस डेटिगं एप,जहां डेट से लेकर पोर्न और सेक्स सब कुछ पेटीएम मनी के बदले न्यूड्स, भारत में  इस्ट्राग्राम और टेलीग्राम ‘सेक्स फॉर सेल’  फेसबुक के फोटो शेयरिंग ऐप इस्टाग्राम तेजी से पॉप्युलर हुआ है और इसका क्रेडिट सिर्फ इसपर छाए सिलेब्रिटीज और स्टार्स को ही नहीं जाता। भारत में इंस्टाग्राम ऐसा प्लेटफॉर्म बनकर उभरा है, जहां पैसे के बदले ऑनलाइन सेक्स बिक रहा है। इतना ही नहीं, पेटीएम मनी के बदले न्यूड्स भेजने को तैयार अकाउंट्स की अ'छी-खासी तादाद इस फोटो शेयरिंग ऐप पर है। कुछ के लिए इंस्टाग्राम लाइक्स बटोरने और पॉप्युलर होने का जरिया तो वहीं कुछ के लिए कमाई का तरीका बन गया है। आलम ये है कि आम लोग ही नहीं जानी मानी सेलीब्रेटी इस पर मौजूद है और आनलाइन सेक्स बेच रही हैं।

ड्रगस का शिंकजा भी कम नहीं,भंवर में जकड़ी है दिल्ली
दिल्ली ड्र'स का केन्द्र बन रहा है,इस बात से पंजाब और मुम्बई पुलिस भी इत्तफाक रखती हे। हाल में ही साऊथ दिल्ली में ड्र'स की बरामदगी के बाद पंजाब के डीजीपी ने बयान दिया था कि अफगानिस्तान के रास्ते नेपाल से होकर दिल्ली ड्र'स को लाया जाता है और यही से अन्य रा'यों में इसे सप्लाई किया जाता है। इसी तरह के इनपुट हाल में मुम्बई पुलिस ने भी दिए हे। बता दे कि गत सालों के आंकड़ों के मुताबिक मुम्बई और पंजाब में ही देश में सबसे ज्यादा ड्रगस का काला कारोबार होता था।

दिल्ली में ड्रगस का नेक्सस के  ये बड़ा कारण
दिल्ली घनी आबादी वाला इलाका है,और कोविड के समय में भी यहां से अन्य रा'यों के लिए फ्लाईंट सहित सभी रा'यों में आना जाना बेहद आसान हैं। साथ ही दिल्ली में प्रतिदिन 2 लाख से 'यादा लोग बाहरी रा'यों से आवागमन करते है,साथ ही विदेशियों का भी दिल्ली मुख्य केन्द्र है,नतीजतन यहां ड्र'स की खेप को पहुंचाना बेहद आसान है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरों के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ड्र'स का मुख्य केन्द्र अफगानिस्तान है,जहां सबसे 'यादा फाइल क्वालिटी की ड्र'स बनती है। इसे नेपाल,बँगलादेश और भुटान के रास्ते लाया जाता है। चूकि मुम्बई और गोवा पुलिस ने एक साल में ड्र'स के कई बड़े नेक्सस को खत्म किया और इस मामले में कई नेटवर्क धवस्त किए है,वहीं कश्मीर और पंजाब में ड्र'स के खिलाफ पुलिस ने विशेष अभियान छेड़े हुए है। जिसके कारण ड्र'स माफियाओं को ऐसी जगह चाहिए जहां वे बाहरी देशों से लाए इस ड्र'स को डंप कर सके और वहां से रा'यों में आसानी से सप्लाई कर सके। नतीजतन इनके  लिए दिल्ली मुख्य केन्द्र बना है। उन्होंने इसके लिए भौगोलिक सीमा को काफी हद तक जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली की अंदरुनी  इलाके घने है तो बाहरी इलाके काफी खुले है,जहां फार्म हाऊस हैं,इसलिए इन्हें आसानी से यहां डंप किया जा सकता है।

तालिबान की ताकत का बढऩा भी एक बड़ा कारण,अफगानी नागारिक ने किया खुलासा
राजधानी में जो बड़ी खेप पकड़ी गई हैं,उसमें सीधे तौर पर अफगानी नागरिकों की भागीदारी है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरों अब इसकी जांच में भी जूटा है। अधिकारी के मुताबिक तालिबान अफगानिस्तान में मजबूत हुआ है,जिसके कारण वहां के सबसे बड़े ड्र'स के काले कारोबार को धक्का लगा है,इसी कारण से इस धंधे से जुड़े लोग वहां की डंप ड्र'स को अन्य देशों में भेज रहें है। एक गिरफ्तार अफगानी नागारिक हजरत अली ने खुलासा किया था कि भारत में उसके बाद दिल्ली में काफी मात्रा में नेपाल,बं'लादेश और भूटान के रास्ते ड्र'स की खेप आई है जो मुम्बई,कश्मीर को भेजी गई जिसके बाद से स्पेशल सेल सहित अन्य रा'यों की पुलिस इसकी तलाश में जुटी हैं। उसने बताया कि तालिबानी संगठन नशे से दूर रहते है और वे इस कारोबार को पंसद भी नहीं करते है,जिसके कारण ड्र'स के वहां के धंधे के अन्य देशों में शिफ्ट किया जा रहा है। इसी का कारण है कि हाल में कनाडा ही नहीं,बिटे्रन,रुस ,नेपाल में भी भारी ड्र'स की खेप बरामद की गई है।

दिल्ली एनसीआर में लगातार बढ़ती ड्र'स की मां
दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में छतरपुर, भाटी माइंस बहादुरगढ़ और दिल्ली गुरुग्राम के आसपास कई फार्म हाऊस हैं,साथ ही फरीदाबाद ,गुरुग्राम और नोएडा में भी इन दिनों काफी फार्म हाऊस बने है,जहां पर युवाओं की रेव और ड्र'स पार्टी अक्सर होती है।

फार्म हाऊसों में रेव पार्टियों में सबसे 'यादा खपत
चूकि स्कूल कॉलेज बंद है,लेकिन नोएडा के यमुना किनारे बने फार्म हाऊस,छतरपुर स्थित फार्म हाऊस,सैनिक फार्म हाऊस,सुरजकुंड से बटकल और दमादमा लेक तक सहित गुरुग्राम और मानेसर स्थित फार्म हाऊसों में लगातार चोरी छिपे बड़े स्तर पर रेव और अन्य तरह की पार्टियों का आयोजन होता है,जहां पर युवा बड़ी मात्रा में इन ड्र'स का इस्तेमाल करतें है। यही नहीं अब तो दिल्ली- एनसीआर में बॉर और पबों में चोरी छिपे बड़े ही आसानी से नेटवर्क के जरिए ड्र'स मिल जाती हैं।

ड्र'स का केन्द्र ही नहीं अपराधियों के सबसे महफूज है दिल्ली
दिल्ली पुलिस के जारी आंकड़े ही बयां करते है गत वर्ष की तुलना में राजधानी का अपराध चरम पर है, हैरानी इस बात की है कि इस बार जो अपराध के आंकड़े बढ़े है,वह संगीन अपराध है,जो खुलेआम सडक़ों पर घटें हैं। साफ है कि बदमाश और संगठित गैंग इन दिनों खुलेआम वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। गत एक माह के आंकड़ों को देखे तेा राजधानी में सडक़ों पर 21 हत्याएं की गई,जबकि प्रतिदिन औसतन तीन बड़ी लूट की वारदातें हुई। अन्य वारदातों को गिनती करे तो राजधानी में औसतन 15 चैन स्नेचिंग, 1 रेप, 10 से अधिक चोरी की वारदातें घट रही है। वहीं साइबर से जुड़े अपराध में लगभग 55 फीसदी इजाफा हुआ हैं। साफ है इससे सीधे तौर पर पुलिसिंग पर सवाल उठे हैं।

गंदे धंधे को बंद करने को तैयार  दिल्ली पुलिस
पुलिस आयुक्त की पहल के बाद राजधानी में क्राइम ब्रांच टीम ने गत एक सप्ताह में कई जगहों पर रेड मारी,इसी तरह से दिल्ली पुलिस के अन्य जिलों डीसीपी स्तर से रेड मारी गई तो पता चला कि राजधान में बड़े पैमाने पर सेक्स रैकट चल रहें हैं। दिल्ली पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक 15 स्पा सेंटर, 12 होटल,सहित अलग अलग जगहों पर दिल्ली पुलिस एक माह के दौरान करीब 48 सेक्स के अडडों को पकड़ चुकी है। बताया जाता है कि हाल में रिपोर्ट के बाद दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने दिल्ली के सभी डीसीपी, स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच की संयुक्त बैठक की। सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में जानकारी मिली कि लोकल स्तर पर चल रहें सेक्स रेकेट में कहीं न कहीं कुछ पुलिसकर्मी या स्थानीय स्तर पर संरक्षण प्राप्त,जिसके बाद ही पुलिस आयुक्त ने अब हर रेड में क्राइम ब्रांच को जरुर शामिल करने के आदेश दिए है। इसके अलावा दो डीसीपी स्तर के अधिकारियेां को राजधानी के सभी स्पा सेंटर,फार्म हाऊस सहित वो जगह जहां पर ऐसे अडडे चल रहें उन पर दबिश देने के लिए कहा है। पुलिस आयुक्त के दावे के मुताबिक दिल्ली पुलिस किसी भी तरह से ऐसे देहव्यापार और ड्र'स माफियाओं को संरक्षण नहीं देती है और इसमें अगर किसी भी तरह की लापरवाही स्थानीय पुलिस स्तर से होती है तो उस पर सख्त कार्रवाई के आदेश जारी किए गए हैं।

ये बना है प्लान:

राजधानी में ड्रग्स और सैक्स रेकेटों के लिए क्राइम ब्रांच में अलग से यूनिट बनी

हर जोन में डीसीपी के नेतृत्व में स्पेशल टीम का गठन

दिल्ली पुलिस की खुफिया ईकाई को लगाया गया,सूचना मिलने पर कार्रवाई

इंटरनेट पर भी साइबर द्वारा रखी जा रही नजर

सादी वर्दी में स्पा सेंटर,होटल और संवेदनशील इलाकों की रेकी

डीसीपी स्तर के अधिकारी खुद करेगें मोनिरिटिगं

 

अपराध किसी भी रुप में हो,उसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। दिल्ली पुलिस की सख्त पुलिसिंग का ही नतीजा है कि हाल में ड्र'स और सैक्स कारोबार के संबंध इतने बड़े नंबर सामने आए हैं। सेक्स रेकट ओर अवेध नशे के कारोबार के खिलाफ दिल्ली पुलिस सख्त कार्रवाई कर रही है। दिल्ली पुलिस ने ऐसे अपराधों के लिए विशेष टीमों का गठन किया और और स्थानीय स्तर पर इसके लिए सख्त आदेश भी जारी किए हैं। होटलों की चैकिगं जारी है,साथ ही हर मिलने वाली सुचना पर पुलिस कार्रवाई कर रही है। उन्होंने सोशल मीडिया  के माध्यम से ये भी कहा है कि अगर इलाको में किसी भी तरह की अवैध गतिविधि किसी भी के सामने आती है तो वो स्थानीय थाने,या फिर ट्विटर,मेल या वरिष्ठ अधिकारी से संपर्क कर शिकायत को दर्ज करा सकता है,निश्चित ही सख्त कार्रवाई की जाएगी। यही नहीं इसमें साफ तौर पर ये आदेश है कि स्थानीय स्तर पर अगर पुलिसकर्मी या कोई भी सरकारी एजेंसी इन्हें संरक्षण देती है तो उसके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई का प्रावधान हैं।

राकेश अस्थाना

पुलिस आयुक्त दिल्ली

----------------------------

सैक्स के कारोबार में जस्ट डायल सहित कई साइबर प्लेटफार्म: स्वाति मालिवाल

हम पहले से ही कहते है आए है कि , राजधानी में स्पा सेंटरों की आड़ में सेक्स सेंटर,जस्ट डायल की आड़ में देह व्यापार सहित सोशल मीडिया ें पर आनलाइन मीडिया प्लेटफार्म के जरिए सैक्स की डिमांड का चलन काफी तेजी से बढ़ा है। हम लगातार इसके खिलाफ काम कर रहे है। दिल्ली महिला आयोग की पहल का ही नतीजा था कि  राजधानी में कुछ समय के लिए स्पा सेंटरों पर देहव्यापार बंद हो च ुका था,लेकिन दोबारा से कुछ जगहों पर ये शुरु हो गया है।  उन्होंने कहा कि किस तरह से राजधानी में सेक्स आनलाइन डिमांड पर मिलता है,इसकी जानकारी मैं खुद दिल्ली पुलिस को दे चुकी है। हमने खुद इस पर पड़ताल की है और जब हमने खुद इसकी जांच के लिए कस्टमर बन कर जस्ट डायल पर फोन कर जस्ट डायल पर कॉल कर शहर में चल रहे (स्पा मसाज) के लिए एक फर्जी कोशिश करके जानकारी जुटानी चाही थी, ताकि पर्दे के पीछे छिपे सच को सामने लाया जा सके। . हमने जैसे ही (स्पा सेंटर्स)  के बारे में मालूमात करने चाहे।  वैसे ही कुछ देर बाद ही मेरे फोन पर 50 ऐसे मेसेज आ गए जिसमें कि 150 से ज़्यादा लड़कियों के ‘रेट’ बता डाले गए। जब खुलेआम इस तरह की बाते सामने आ रही है तो आप इसी से अंदाजा लगा सकते है कि किस तरह से सोशल मीडिया पर सैक्स आन डिमांड मिलता है। हमारे स्तर और दिल्ली सरकार के स्तर पर इस पर अंकुश लगाने के लिए लगातार प्रयास जारी है।

 

 

 

ड्र'स पर दिल्ली पुलिस का चाबुक

ड्र'स के नेक्सस को तोडऩे के लिए दिल्ली पुलिस लगातार काम करती है। अगर काम नहीं करती तो इतनी बड़ी खेप की बरामदगी आसान नहीं होती। स्पेशल सेल और क्राइम ब्रांच लगातार इनके मिल रहें इनपुट पर काम कर रही है। वर्ष 2019 में स्पेशल सेल की टीम ने करीब 330 किलोग्राम हेरोइन जब्त कर अफगान मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था। उसी मामले की जांच के दौरान पुलिस को हाल ही में रिजवान अहमद उर्फ रिजवान कश्मीरी के बारे में जानकारी मिली, जो घिटोरनी इलाके में रहकर दिल्ली, पंजाब, मध्य प्रदेश और हरियाणा समेत अन्य रा'यों में हेरोइन का धंधा चला रहा था उसे पकड़ा  गया और इतनी बड़ी खेप बरामद की गई। हां कुछ नए इनपुट पंजाब और मुम्बई पुलिस के अलावा सेंट्रल नारकोटिक्स कंट्रोल से मिले है,जिस पर लगातार टीमें काम कर रही हैं। अब तक साल 2021 तक की तुलना में इस साल की अवधि में 83 'यादा केस दर्ज हुए हैं।  2020 एनडीपीएस एक्ट के तहत 712 केस दर्ज हुए थे और 909 आरोपी गिरफ्तार किए गए। लॉकडाउन के दौरान 2021 में 748 केस दर्ज कर 912 आरोपी गिरफ्तार किए गए। इस साल नशे के खिलाफ और भी 'यादा सख्ती से एक्शन लिया जा रहा है। इसलिए 1 जनवरी से 15 जून 2021 तक की तुलना में इस साल इस अवधि के दौरान 83 'यादा केस दर्ज हुए हैं और 167 'यादा आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है। यही नहीं अब तक 15 जून तक ड्रग्स की तस्करी या बिक्री करने वालों पर 235 मुकदमे दर्ज किए और दिल्ली में अब तक ड्रग्स केस में 351 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। ये एक बड़ी सफलता है।

 

यहां पर सबसे 'यादा सेक्स का कारोबार

  • दिल्ली के अधिकांश छोटे होटल इनमें पहाडग़ंज, सहित राजधानी में नामी कंपनियों के होटलों की चैन
  • दिल्ली पुलिस ने हाल में ओयो कंपनी के कई होटलों में जांच की,जहां पता चला कि अवैध रुप में मिलते है कमरे
  • कई  पंचसितारा होटल में विदेशी लड़कियों के लिए बुक रहता है कमरा,जहां मिलता है सेक्स
  • फार्म हाऊस, साऊथ दिल्ली की कई कोठियों में ड्र'स की रेव पार्टी सहित सेक्स का होता है ध्ंाधा
  • इन इलाको में सबसे 'यादा मकानों में होता है सैक्स कारोबार
  • साऊथ दिल्ली के गोतम नगर, कोटला मुबारकपुर, साकेत,मालवीय नगर,चिराग दिल्ली,न्यू फैंडस कालोनी
  • ईस्ट दिल्ली: पांडव नगर,लक्ष्मी नगर, शकरपुर, आंनद विहार, हसनपुर, दयानंद विहार

इसके अलावा : द्वारका,पश्चिम विहार,पंजाबी बाग, नेता जी सुभाष पैलेस, जनकपुरी,  मंगोलपुरी, रोहिणी,मदनगीर, छतरपुर, जीटी करनाल रोड, मौजपुर, यमुना विहार के इलाको में सेक्स रैकेट

 

हाल में ही पकड़े गए सैक्स रैकेट

  • रविवार को ही दिल्ली के शाहदरा जिले में दो अलग-अलग जगहों पर जिस्मफरोशी को कारोबार पर रेड। चार महिलाओं समेत कुल छह लोगों गिरफ्तार
  • रविवार को  आनंद विहार इलाके में स्पा सेंटर की आड़ में सेक्स रैकेट पर रेड,  महिला व स्पा सेंटर के मैनेजर को गिरफ्तार
  • रविवार को ही सीमापुरी इलाके के दिलशाद गार्डन में एक महिला के घर में रेड। तीन महिलाओं व एक युवक को गिरफ्तार
  • ईस्ट दिल्ली के पांडव नगर इलाके के शशि गार्डन में एक होटल में इंटरनैशनल सेक्स रैकेट  का भंडाफोड़, उ'बेकिस्तान की तीन महिलाएं, दो एजेंट और होटल के केयर टेकर गिरफ्तार।
  • दिल्ली के सीमापुरी में पुलिस ने एक मकान में छापेमारी कर सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ ,चार महिलाओं समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। इस रैकेट में पकड़ी गईं युवतियां नोएडा, मुस्तफाबाद और यमुना विहार की रहने वाली हैं।
  • टूरिस्ट वीसा पर भारत आई उ'बेकिस्तान की दो लड़कियां यहां सेक्स रैकेट चला रही थीं। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 24 और 28 साल की महिपालपुर में रहने वाली दोनों लड़कियों के अलावा जहांगीर पुरी के कैब ड्राइवर पूरन सिंह (47) को अरेस्ट किया है। लड़कियां एक रात के लिए 20-20 हजार रुपये चार्ज करती थीं, जबकि कैब ड्राइवर को दो हजार रुपये कमिशन के तौर पर मिलते थे।
  • एक हाई-प्रोफाइल वेश्यावृत्ति रैकेट का पर्दाफाश जो सेक्स रैकेट व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए चलाता था। इसे दिल्ली के छतरपुर इलाके के 40 वर्षीय रैकेट के सरगना मोहम्मद जावेद अली करता था। इस ग्रुप के जरिए कई नामी मॉडल भी जिस्म फरोसी के लिए जाती थी।
  • एरोसिटी इलाके में एक हाई-प्रोफाइल वेश्यावृत्ति रैकेट का भंडाफोड़ , इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किए गए । ये व्यापार एरोसिटी के एक होटल में एक कमरा बुक किया कर कराया जाता था।
  • मध्य दिल्ली के पटेल नगर इलाके में पुलिस ने एक सेक्स रैकेट का भांडाफोड़ कर तीन महिलाओं को गिरफ्तार। यहां एक मकान में चल रहा था कारोबार
  • भजनपुरा में एक 5 मंजिला मकान में सेक्स रैकेट। यहां एक दर्जन युवक और युवतियों को हिरासत में ले लिया।
  • रोहिणी में घर से चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, 3 गिरफ्तार

 

 

 

comments

.
.
.
.
.