Thursday, Oct 28, 2021
-->
how delhi metro will leave london behind

लंदन को कैसे पीछे छोड़ देगी दिल्ली मेट्रो

  • Updated on 9/19/2021

नई दिल्ली/अनिल सागर। दिल्ली से हरियाणा, उत्तर प्रदेश की सीमा में दौड़ रही मेट्रो ने ढांसा बस स्टैंड के साथ पहली अंडरग्राउंड पार्किंग बनाकर एक रिकार्ड कायम किया है वहीं अब अगली चुनौती में वह लंदन को पीछे छोडऩे की तैयारी में है। 
    चौथे चरण के में मेट्रो के तीन प्रमुख कॉरिडोर मजलिस पार्क से मौजपुर, जनकपुरी पश्चिम से आरके आश्रम मार्ग और दिल्ली एयरोसिटी से तुगलकाबाद के बीच हैं। ये तीनों कॉरीडोर तैयार होने के बाद न सिर्फ इंटरचेंज सुविधाएं बढ़ जाएंगी, मजलिस पार्क से मौजपुर बनते ही रिंग बन जाएगा तो वहीं भीड़भाड़ वाले आरके आश्रम से जनकपुरी पश्चिम महत्तवपूर्ण इलाको को कनेक्टिविटी मिलेगी। 
      दिल्ली एयरोसिटी से तुगलकाबाद तक सिल्वर लाइन से पहचानी जाएगी जबकि बाकी दो कॉरिडोर मौजूदा पिंक और मैजेंटा लाइनों की एक्सटेंशन हैं। दिल्ली मेट्रो पहले से ही दुनिया के सबसे बड़े मेट्रो नेटवर्क में है लेकिन चौथे चरण की परियोजना पूरी होने के बाद डीएमआरसी नेटवर्क, लंबाई के मामले में लंदन ट्यूब को भी पीछे छोड़ देगी। 
          देश भर में हांलाकि 740 किलोमीटर लाइन पर मेट्रो चल रही है और 2022 तक तकरीबन 900 किलोमीटर तक बढऩे के अनुमान हैं। क्योंकि अलग-अलग शहरों में एक हजार किलोमीटर मेट्रो लाइनों का निर्माणा जारी है। आने वाले वर्षों में दो हजार किलोमीटर मेट्रो का नेटवर्क करने की योजना पर केंद्र सरकार काम कर रही है। 

comments

.
.
.
.
.