Monday, May 23, 2022
-->
Indian Army''s bravery, Indira Gandhi''s leadership in Bangladesh war were unprecedented: Sonia

बांग्लादेश मुक्ति संग्राम में भारतीय सेना का शौर्य और इंदिरा गांधी का नेतृत्व अभूतपूर्व था: सोनिया

  • Updated on 12/15/2021

नई दिल्ली/नेशनल ब्यूरो। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के 50 साल पूरा होने के मौके पर बुधवार को भारतीय सेना के शौर्य और तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के राजनीतिक नेतृत्व को अभूतपूर्व बताते हुए उन्हें याद किया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय सेना की ऐतिहासिक विजय भारत की राजनीतिक, कूटनीतिक और सैन्य अभियान के मिलेजुले प्रयास का परिणाम था। 

राहुल गांधी का आरोप, लखीमपुर केस में SIT रिपोर्ट पर चर्चा नहीं होने देना चाहती सरकार, संसद में हंगामा
बांग्लादेश मुक्ति संग्राम की 50वीं वर्षगांठ के मौके पर सोनिया गांधी ने कहा कि आज हम इंदिरा गांधी को बहुत ही गर्व के साथ याद करते हैं। वह अपने साहस और संयम के कारण आज भी करोड़ों भारतीय नागिरकों के लिए प्रेरणा बनी हुई हैं। उन्होंने पूरे विश्व समुदाय को बांग्लादेश के लोगों के मकसद के बारे में संवेदनशील बनाया। उनके मुताबिक, 50 साल पहले बांग्लादेश के बहादुर लोगों ने अपने आप को एक नया भविष्य दिया। भारत उनके साथ खड़ा रहा और यहां एक करोड़ शरणाॢथयों ने शरण ली। बांग्लादेश के स्वतंत्रता सेनानियों को याद किया जाना चाहिए। सोनिया गांधी ने बांग्लादेश के साथ भारत के गर्मजोशी भरे रिश्तों को भी याद किया।

ममता ने साधा PM मोदी पर निशाना, कहा- एक गुजराती पूरे देश में जा सकता है तो एक बंगाली क्यों नहीं
बांग्लादेश के विजय दिवस की पूर्वसंध्या पर कांग्रेस की ओर से यहां एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व रक्षा मंत्री ए.के. एंटनी, राज्यसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुन खडग़े, लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष मीरा कुमार, लेफ्टिनेंट जनरल एआरके रेड्डी, वाइस एडमिरल एस.के. भसीन, वाइस मार्शल कपिल काक समेत कांग्रेस के कई अन्य नेता तथा सेना के पूर्व अधिकारी शामिल थे। 

comments

.
.
.
.
.