Sunday, Apr 18, 2021
-->
indian govt released new social media guidelines sobhnt

सोशल मीडिया-OTT प्लेटफॉर्म के लिए केंद्र सरकार लाई नई Guidelines, 24 घंटे में लेना होगा एक्शन

  • Updated on 2/25/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सोशल मीडिया (Social media) और ओटीटी प्लेटफॉर्म के कंटेंट को लेकर लगातार उठ रहे चिंताओं के बीच आज भारत सरकार इन दोनो प्लेटफॉर्म के लिए गाइडलाइन लेकर आई है। जिसके जानकारी  केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दी है। प्रसाद ने कहा है कि सोशल मीडिया भारत में कार्यवाही करे मगर लोगो को शिकायत का फोरम भी मिलना चाहिए।   

लंबे समय से सोशल मीडिया-ओटीटी प्लेटफॉर्म (OTT Platform) और सरकार के बीच बढ़ रहे विवादों को ध्यान रखते हुए केंद्र सरकार अब इन प्लेटफॉर्म के लिए नए नियम ले आई है। सरकार ने अब आदेश दिया है कि डिजिटल प्लेटफॉर्म को भी अब सोशल इलैक्ट्रॉनिक मीडिया की सेल्फ रेगुलेशन करना होगा। उन्होंने कहा है कि अगर कोई आपत्तिजनक पोस्ट की जाती है तो सरकार के कहने पर उसे 24 घंटे के अंदर हटाना होगा।  

पेट्रोल की बढ़ी कीमतों के विरोध में इलेक्ट्रिक स्कूटर से ऑफिस पहुंची ममता बनर्जी

लोगों को शिकायत का मिले मौका
सरकार ने इसके अलाला सोशल मीडिया कंपनियों का भारत में स्वागत करते हुए कहा है हम आलोचना के लिए तैयार है मगर हम चाहते हैं कि लोगों को शिकायत करने का भी मौका मिलना चाहिए। वह कहते हैं कि सोशल मीडिया के लिए जो गाइडलाइन तैयारी की गई है, सरकार उन्हें अगले तीन महीने में लागू कर देगी। रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने इस पर कानून बनाने के लिए कहा था। वह कहते हैं कि हमने गाइडलाइन तैयार कर दी है। प्लेटफॉर्म को अपने यूजर्स का वेरिफिकेशन करना होगा । वह कहते हैं अभी सरकार इसमें हस्तक्षेप नहीं करने जा रही है।   

MP: गोडसे की प्रतिमा लगाने वाले बाबूलाल चौरसिया कांग्रेस में शामिल, कमलनाथ ने की पहल

24 घंटे अंदर करनी होगी कार्यवाही
बता दें रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों को 24 घंटे के अंदर आपत्तिजनक पोस्ट को हटाना होगा। वह कहते हैं कि शिकायतों के लिए एक नोडल अधिकारी नियुक्त करना होगा और यह भी बताना होगा कि अफवाह फैलाने वाला पहला व्यक्ति कौन था। ताकि उस अफवाह को रोका जा सके और उस व्यक्ति पर कार्यवाही की जा सके। 

बता दें कि डिजिटल मीडिया के लिए सरकार ने इलैक्ट्रानिक मीडिया की तरह की गाइडलाइंस तैयार करने की बात कही है। वह कहते हैं कि हमने ओटीट प्लेटफॉर्म को सेल्फ रेगुलेशन की बात कही थी। मगर ओटीटी प्लेटफॉर्म इसमें सफल नहीं हुआ। इसके अलावा वह कहते हैं कि सोशल मीडियो को भी इलैक्ट्रॉनिक मीडिया की तरह ही अपनी गलती पर माफी प्रसारित करनी होगी   
 

 

ये भी पढ़ें:

comments

.
.
.
.
.