Tuesday, Jun 22, 2021
-->
jammu kashmir article 370 mahboob mufti social media pdp sobhnt

रिहाई के बाद महबूबा ने उठाया कश्मीर का मुद्दा, बोलीं- 370 के लिए करेंगी संघर्ष

  • Updated on 10/14/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mahbooba Mufti) को सरकार ने करीब 14 महीने बाद जेल से रिहा कर दिया है। सरकार ने महबूबा को घाटी से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाने के बाद गिरफ्तार किया था। सरकार को डर था कि यह लोग जनता को भड़का सकते हैं। उसके बाद पीएसए के तहत उन्हें नजरबंद किया गया था। फिलहाल महबूबा ने जेल होते ही केंद्र सरकार को चुनौती दी है। 

चिन्मयानंद को बड़ी राहत, पीड़ित छात्रा ने वापस लिया मामला, बोली- दवाब में लगाए थे आरोप

क्या बोलीं महबूबा
महबूबा ने अपनी रिहाई के कुछ समय बाद ही अपने सोशल मीडिया (Social Media) अकाउंट से ट्वीट करके कहा है कि वह घाटी के विशेष दर्जे के लिए लगातार लड़ाई करेंगे। उन्होंने एक तरह से केंद्र सरकार को अपनी मंशा का ईशारा कर दिया है। महबूबा ने कहा है कि वह एक अरसे के बाद रिहा हुई हैं। पांच अगस्त के काले दिन का काला फैसला हर पर मेरे रुह और दिल पर वार करता रहा । वह कहती है कि कोई भी शख्स उस दिन की बेइज्जती को नहीं भूल सकता।  

सेवानिवृत्त अधिकारी पूरी करेंगे लद्दाख की सड़क परियोजनाएं, जोखिम भत्ते में 733% बढ़ोतरी

कश्मीर के लिए लड़ेगीं लड़ाई
वह कहती हैं कि सभी को ईरादा करना होगा कि पांच अगस्त को जो दिल्ली दरबार ने गैर आईनी, गैर जम्हूरी, गैर कानूनी तरीके से अपसे छीन लिया गया है। उसे वापस लेना होगा। उसके साथ- साथ कश्मीर मसला, जिसके लिए अप लड़ाई जारी रखनी होगी। ये राह कतई भी आसान नहीं है। वह इसके अलावा जेलों में बंद लोगों की रिहाई की भी मांग करती हैं।  

Bihar Elections 2020: केंद्रीय मंत्री बोले- RJD की सरकार बनी तो कश्मीर से आतंकी बिहार में लेंगे शरण

14 महीने बाद हुई रिहा
इससे पहले मंगलवार रात को जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) की पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) की चीफ महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) को लंबी नजरबंदी के बाद रिहा कर दिया गया है। जम्मू कश्मीर प्रशासन के प्रवक्ता रोहित कंसल ने इसकी जानकारी दी है। मुफ्ती को पिछले साल 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित करने के एक दिन पहले हिरासत में लिया गया था। 

 

यहां पढ़ें अन्य महत्वपूर्ण खबरें-

  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.