Friday, May 07, 2021
-->
kisan chaupa shah rajnath addressed in delhi opposition targeted albsnt

किसान चौपाल: दिल्ली में शाह,राजनाथ ने किया संबोधित,निशाने पर रहा विपक्ष

  • Updated on 12/25/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बीजेपी आज देश भर में किसान चौपाल का आयोजन किया है। एक तरफ पीएम नरेंद्र मोदी 9 करोड़ किसानों को 18 हजार करोड़ रुपये का तोहफा दिया है। तो दूसरी तरफ देश भर में अलग-अलग शहरों में केंद्रीय मंत्रियों सहित तमाम बीजेपी नेता 2500 किसान चौपाल में हिस्सा लेकर विपक्ष को संदेश देने की कोशिश की है। दिल्ली में आयोजित एक किसान चौपाल को गृह मंत्री अमित शाह ने संबोधित किया है। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान विपक्ष पर जमकर निशाना साधा है।

 आंदोलन के बीच किसानों को मोदी सरकार का तोहफा, क्या बनेगी बात?

राजनाथ ने भी किया किसान चौपाल को संबोधित

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में महज 60 हजार करोड़ रुपये का किसानों का ही कर्ज माफ किया। जबकि मोदी के शासनकाल में महज ढ़ाई साल ही में 95 हजार करोड़ रुपये दिये गए। उन्होंने कांग्रेस और विपक्ष के सभी आरोप को खारिज कर दिया है। वहीं दिल्ली में एक किसान चौपाल को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि विपक्ष आजकल नए कानू को लेकर भ्रम फैलाने में जुटे हुए है। उन्होंने भरोसा देते हुए कहा कि सरकार हर हाल में भरोसा देती है कि कभी-भी MSP खत्म नहीं किये जाएंगे। उन्होंने किसानों को भरोसा देते हुए कहा कि कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग को लेकर कोई भी डर वेबजह है। उन्होंने कहा कि आज पीएम नरेंद्र मोदी किसानों की आय दोगुनी करने के लिये प्रतिबद्ध है। जिसको लेकर कोई भी भ्रम नहीं पाला जाना चाहिये।

बंगाल में  शुभेंदु को सुजाता मंडल ने दी चुनौती, कहा- हैं हिम्मत तो लड़े उनके खिलाफ चुनाव 

मोदी सरकार ने ही लागू की स्वामीनाथन रिपोर्ट

उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने किसान चौपाल को संबोधित किया है। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि जो कांग्रेस पार्टी स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू नहीं होने दी,आज आंदोलन को बेवजह भटकाने की कोशिश में जुटा हुआ है। उन्होंने कहा कि यह पीएम नरेंद्र मोदी है जिन्होंने स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू की। योगी ने कहा कि असल में मोदी सरकार ने ही किसानों के जीवन में खुशहाली लाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने प्रदेश में किसानों का कर्ज माफ किया।

ये भी पढ़ें...

comments

.
.
.
.
.