Wednesday, Apr 14, 2021
-->
naxal attack balraj singh opens his turban to stop his partner blood anjsnt

नक्सल अटैकः साथी का खून रोकने को बलराज सिंह ने खोल दी अपनी पगड़ी, पढ़ें ये साहस भरी दास्तां

  • Updated on 4/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बीते शनिवार को नक्सलियों और  जवानों के बीच हुई मुठभेड़ में हमारे 22 जवान शहीद हो गए और 31 जवान घायल हो गए। ऐसे में जब  घायल हुए जवानों में से एक जवान बलराज सिंह ने उस दिन की आपबीती सुनाई जो काफी सहारनीय है।

जब रायपुर में नक्सली जवानों पर गोलियां बरसा रहे तो उस वक्त हमारे जवान भी उनका मुंहतोड़ जवाब दे रहे थे। उसी वक्त बलराज सिंह के साथी जवान अभिषेक पांडेय नक्सलियों की गोली का शिकार हो गया। उसके शरीर से खून की बहने लगा। ऐसे में बलराज सिंह ने  साहस दिखाते हुए अपनी पगड़ी खोली और अभिषेक के घाव पर बांध दी। जिससे उसका थोड़ा खून बहना कम हुआ। अपने साथी की जान बचाते वक्त कुध बलराज सिंह नक्सलियों की गोली के शिकार हो गए। वो भी गंभीर रूप से घायल हैं और इस वक्त उनका अस्पताल में भर्ती हैं।

RBI का अनुमान, वित्त वर्ष 2021-22 की पहली छमाही में 5.2% रहेगा खुदरा मु्द्रास्फीति

स्पेशल डीजी ने भेट की पगड़ी
बलराज सिंह के इस साहस भरे काम की सहारना करते हए स्पेशल डीजी अनिल विज ने उन्हें अस्पताल में पहुंचकर पगड़ी भेंट की। घायल जवाब बलराज सिंह की इस आपबीती को सुनकर सभी देशवासी उनपर गर्व कर रहे हैं। जब अनिल विज ने बलराज सिंह को पगड़ी भेंट की तो उस वक्त उनकी तस्वीर खीची गई जो इस वक्त सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही है। उस तस्वीर अनिल विज ने लिखा- सिख जवान के जज्बे को मेरा सलाम।

मशीन गन से किया हमला
 इन नक्सलियों ने उस इलाके में सुरक्षा बलों को तीन ओर से घेरकर उन पर कई घंटे तक मशीन गन और आईईडी से हमला किया । यह जानकारी अधिकारियों ने रविवार को दी। माना जाता है कि इस मुठभेड़ में 10-12 नक्सली भी मारे गए हैं। सुरक्षा बलों के करीब 1,500 जवानों की एक टुकड़ी ने बीजापुर-सुकमा जिले की सीमा के आसपास के क्षेत्र में नक्सलियों की मौजूदगी की गुप्त सूचना पर तलाशी और उन्हें नष्ट करने का अभियान शुरू किया था। इस टुकड़ी में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की विशेष इकाई ‘कोबरा’ के जवान, इसकी नियमित बटालियनों की कुछ टीमें, इसकी बस्तरिया बटालियन की एक इकाई, छत्तीसगढ़ पुलिस से संबद्ध जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी) और अन्य जवान शामिल थे।

मुख्तार के आने पर UP के मंत्री का तंज- योगी जी की सरकार है, जिसने जो किया वो भरेगा

इससे पहले नारायणपुर मे हुआ था जवानों पर हमला
हालांकि जवानों ने भी आनन-फानन में मोर्चा संभाला। फिर जवाबी कार्रवाई भी की। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बल लगातार घायल जवानों को वहां से निकालने की कोशिश में जुटे हुए हैं। डीएमअवस्थी ने बताया कि इस मुठभेड़ में  DRG के 4 और CRPF के 1 जवान शहीद हुए है। इससे पहले भी 23 मार्च  को ही नारायणपुर जिले में सुरक्षाकर्मियों से भरी बस पर नक्सलियों ने IED से हमला किया था। जिसमें भी 5 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे।  

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.