Thursday, Jun 01, 2023
-->
new-railway-bridge-over-yamuna-will-be-ready-by-year-end-trains-will-pick-up-speed

यमुना पर साल के अंत तक तैयार हो जाएगा नया रेलवे ब्रिज, रेलगाडिय़ां पकड़ेंगी रफ्तार 

  • Updated on 1/10/2023


नई दिल्ली/ अनिल सागर। दिल्ली में रेलवे के पहले यमुना पर बने ब्रिज को सेवानिवृत्त हुए अरसा बीत गया लेकिन अब उसकी जगह दो दशक से बन रहे दूसरे ब्रिज के अब इस साल के अंत तक अथवा अगले साल की शुरूआत में तैयार होने के आसार हैं। लोहे के पुल को अंग्रेजों ने करीबन 44 लाख की लागत से छह साल में बनाकर वर्ष 1867 में तैयार किया था लेकिन नए ब्रिज की तारीख अब तक कई बार बढ़ाई जा चुकी है। 
        रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी मानते हैं कि 155 साल पुराने रेलवे इस लोहे के पुल का बोझ जल्द ही कम हो जाएगा क्योंकि नए पुल का निर्माण अब आखिरी चरण में है और ये पुल अब इसी साल के अंत तक अथवा फरवरी 2024 तक तैयार हो जाएगा। ब्रिज का निर्माण 2003 में तत्कालीन रेल मंत्री नितीश कुमार ने शुरू किया था। निर्माण 2008 में करीबन 92 करोड़ रूपए की लागत से होना तय था। 
          शाहदरा रेलवे स्टेशन से लाल किले के पीछे सलीमगढ़ किले से यमुना पार कर दिल्ली जंक्शन आने वाली इस रेल लाइन पर यमुना ब्रिज के काम में कई बार काम रूका। दरअसल सलीमगढ़ के किले के कुछ हिस्से से रेल लाइन गुजर रही है इसलिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने इसकी अनुमति देने से इनकार कर दिया। पुल का एलाइनमेंट बदलकर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण से इसके निर्माण की अनुमति मिलने पर काम दोबारा शुरू हुआ तो यमुना में बने कुंए के नीचे चट्टानी पत्थर मिलने पर कुछ पिलर की नींव भी बदली गई। इससे इसके काम में कई साल की देरी हुई। 
       तमाम अड़चनों के बाद, समय सीमा बढ़ाए जाने के साथ इस ब्रिज पर अब लागत करीबन 139.95 करोड़ रुपए पहुंच चुकी है। ब्रिज के गार्डर बिछ चुके हैं और ट्रैक बिछाने की तैयारी चल रही हैं। अभी यहां से रोजाना 300 रेलगाडिय़ों की आवाजाही होती है और सुरक्षा कारणों से यात्री ट्रेन 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरती हैं। नए ब्रिज के शुरू होने पर यह रफ्तार भी बढ़ा दी जाएगी। 
 

comments

.
.
.
.
.