Thursday, Jun 17, 2021
-->
nha takes important step to prevent fake vaccination  otp mandated anjsnt

टीकाकरण में फर्जीवाड़े को रोकने के लिए NHA ने उठाया अहम कदम , OTP को किया अनिवार्य

  • Updated on 5/8/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश में बढ़ रहे कोरोना संकट को रोकने के लिए वैक्सीनेशन प्रकिया भी काफी तेजी से चल रही है। हालांकि इस प्रकिया के दौरान कई राज्यों से फर्जीवाड़े की खबरें भी निकलकर सामने आ रही हैं। जिसमें बिना वैक्सीन लगावाए मोबाइल पर टीका लगा हुआ दिखाई दे रहा है।

जानिए क्या मामला
देश में चल रहे टीकाकरण अभियान को संभाल रहे नेशनल हेल्थ अथारिटी के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि पिइले  हफ्ते कई ऐसे लोगों को वैक्सीन लगने का मैसेज आया है जो अभी तक वैक्सीनेशन सेंटर पर गए ही नहीं हैं। जब ऐसी धोखाधड़ी के बारे में नेशनल हेल्थ अथारिटी को पता चला तो कई लोग ऐसे हैं  जिन्होंने ऑनलाइन वैक्सीनेशन के लिए रजिस्टेशन  तो किया था लेकिन किसी कारण वो वैक्सीन लेने नहीं पहुंचे। जिसके बाद भी उनके फोन पर मैसेज आया  कि उनको टीका लग गया है। इस मुश्किल घड़ी में हो रही धोखाधड़ी को रोकने के लिए नेशनल हेल्थ अथारिटी ने एक अहम कदम उठाया  है।

सुप्रीम कोर्ट में चुनाव आयोग की पैरवी कर रहे एक वकील ने दिया इस्तीफा

क्या है वो कदम
नेशनल हेल्थ अथारिटी के अनुसार अब जब कोई भी वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराएगा तो उसके मोबाइल फोन पर एक ओटीपी आएगा। अब उस ओटीपी को उस मरीज को उस वक्त भी कोविड़ सेंटर पर बताना होगा जब उसे वैक्सीन लगेगी। उसके बाद ही उसे वैक्सीनेशन का सार्टिफिकेट मिल पाएगा। 

ऑक्सीजन की कमी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- लोगों को अधर में नहीं छोड़ सकते 

ये  हो सकता है धोखधड़ी करने वालों का प्लान
आपको बता दें कि नेशनल हेल्थ अथारिटी को आशंका है कि जो भी लोग वैक्सीन को लेकर घपला कर रहै हैं शायद वो उस वैक्सीन को प्राइवेट अस्पताल में बेच दे रहे हैं। बता दें कि  18 से 44 साल के लोगों के लिए प्रति डोज कोविशील्ड 300 रुपये और कोवैक्सीन 400 रुपये में मिल रही है। 
 

comments

.
.
.
.
.