Sunday, Oct 17, 2021
-->
parambir singh appeared before nia interrogation in antilia case anjsnt

NIA के समक्ष पेश हुए परमबीर सिंह, एंटीलिया केस में हो रही पूछताछ

  • Updated on 4/7/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास एक एसयूवी पाए जाने के मामले में मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह अपना बयान दर्ज कराने के लिए बुधवार को यहां एनआईए के समक्ष पेश हुए।

अंबानी केस में होगी पूछाताछ
 एक अधिकारी ने बताया कि सिंह कार से सुबह करीब साढ़े नौ बजे दक्षिण मुंबई में राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) के कार्यालय पहुंचे।  सिंह को 25 फरवरी को अंबानी के घर के पास से एसयूवी बरामद किए जाने और उसके बाद ठाणे के कारोबारी मनसुख हिरेन की हत्या के बाद पिछले महीने मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटा दिया गया था। इस एसयूवी में विस्फोट सामग्री पाई गई थी। सिंह अभी होम गाड्र्स के महानिदेशक पद पर हैं सूत्रों ने बताया कि एनआईए ने मामले में बयान दर्ज कराने के लिए सिंह को तलब किया था।

कोरोना ने तोड़े अब तक के सारे रिकार्ड, एक दिन में 1.15 लाख केस, 630 की मौत

केस में अब तक क्या क्या हुआ
एनआईए ने दक्षिण मुंबई में अंबानी के घर के पास यह वाहन खड़ा करने में कथित भूमिका के लिए सहायक पुलिस निरीक्षक सजिन वाजे को पिछले महीने गिरफ्तार किया था। उसने मनसुख हिरेन की हत्या के संबंध में निलंबित पुलिस कांस्टेबल विनायक शिंदे और क्रिकेट सट्टेबाज नरेश गोर को भी गिरफ्तार किया था। हिरेन का शव पांच मार्च को ठाणे के मुंब्रा क्रीक में पाया गया था। 

चार दिवसीय दौरे पर भारत आए जॉन केरी, कहा- वैक्सीन को लेकर भारत ने उठाया सहारनीय कदम

परमबीर सिंह ने लगाए थे ये आरोप
परमवीर सिंह ने पिछले दिनों मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे एक पत्र में देशमुख पर फरवरी मध्य में पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर बार-रेस्टोरेंट्स से 100 करोड रुपए की वसूली करने का आरोप लगाया था लेकिन देशमुख ने यह कहते हुए आरोपों को निराधार बताया था कि वह कोरोना पॉजिटिव होने के चलते 5 से 15 फरवरी तक नागपुर के अस्पताल में इलाज करा रहे थे। इसके बाद 16 से 27 फरवरी तक होम आइसोलेशन में रहे थे।मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे आठ पृष्ठों के पत्र में सिंह ने आरोप लगाया है कि देशमुख पुलिस अधिकारियों को अपने आवास पर बुलाया करते हैं और उन्हें बार, रेस्तरां तथा अन्य प्रतिष्ठानों से वसूली का लक्ष्य देते हैं।

comments

.
.
.
.
.