Wednesday, Oct 27, 2021
-->
patients are cured by singing with their medicine dr. prakhar

अपनी दवा के साथ सिंगिग से ठीक कर रहे हैं मरीजों को डॉ. प्रखर

  • Updated on 9/10/2021

नई दिल्ली। अनामिका सिंह। दवा देकर मरीजों को ठीक करने वाले भगवान के रूप में डॉक्टर आपने बहुत से देखें होंगे लेकिन अपनी दवा के साथ ही कोविड मरीजों में नकारात्मक भावों को दूर करने के लिए एक युवा डॉक्टर द्वारा भजन गाना पहली बार सुना होगा। सफदरजंग अस्पताल के डॉ. प्रखर डागर का अंदाज चिकित्सा करने का कुछ अलग ही है वो दवा के साथ मरीजों को सुकुन देने के लिए भजन भी सुनाते हैं। यही नहीं उनके ऑनलाइन लाइव कंसर्ट में सिर्फ सफदरजंग अस्पताल के वर्तमान व पूर्व मरीज और डाॅक्टर ही नहीं बल्कि 23 देशों से लोग जुडते हैं। 
जेपी पार्क में लंबी हुई घास, सांप के डर से नहीं जाते लोग


खुद लिखते हैं अपने भजन व बजाते हैं गिटार
28 वर्षीय डॉ. डागर से इस बारे में जब बात की तो उन्होंने बताया कि वो खुद अपने भजनों को लिखते हैं व गिटार बजाते हैं। उनकी एक कोशिश रहती है कि वो लोगों को अपने भजनों के माध्यम से सकारात्मकता की ओर लेकर जाएं। उन्होंने बताया कि कई बार वो बहुत चैंक जाते हैं, जब वो अस्पताल के वार्ड में कोविड मरीजों व अन्य मरीजों को देखने जाते हैं तो वो उनके भजनों को सुन रहे होते हैं लेकिन अंदर से अच्छा भी बहुत लगता है। हाल ही में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन द्वारा आयोजित श्रद्धांजलि सभा में भी उन्हें गाने का अवसर प्रदान किया गया। जिसमें कोरोना से मौत की आगोश में सोए दिवंगत डॉक्टरों को पूरे चिकित्सा समाज की ओर से याद किया गया था। इंस्टाग्राम, फेसबुक, यूट्यूब सहित अन्य सोशल साईट्स पर वो काफी एक्टिव हैं और लाखों फॉलोवर उनके भजन के शौकीन हैं।
इलैक्ट्रोनिक्स का बाजार बनी ऐतिहासिक समरू बेगम की कोठी

 

डॉक्टर फैमिली से हैं डॉ. प्रखर
डॉ. प्रखर ने बताया कि वो एक डॉक्टर फैमिली से हैं उनके भाई व बहन भी पेशे से डॉक्टर हैं। लेकिन उनका झुकाव अध्यात्म की ओर बचपन से ही था। सफदरजंग से ही उन्होंने पढाई की ओर फिर वहीं नौकरी भी करने लगे। भाई-बहनों में डॉ. प्रखर सबसे छोटे हैं। उनका कहना है कि दवा के साथ दुआ की भी जरूरत होती है इसी कॉन्सेप्ट पर मैं काम कर रहा हूं।
 

comments

.
.
.
.
.