Sunday, Apr 18, 2021
-->
pm modi live corona vaccine sobhnt

वैक्सीन को लेकर भावुक हुए पीएम, बोले- अस्पताल से कई साथी वापस नहीं आए

  • Updated on 1/16/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।  कोरोना (Corona) महामारी के जंग के बीच भारत सरकार आज से कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान शुरु करने जा रही है। सरकार की तरफ से इसकी अगुवाई स्वयं प्रधानमंत्री मोदी टीकाकरण के पहले चरण का उद्घाटन करके  कर रहे हैं। पीएम ने लोगों को इस मौके पर संबोधित करते हुए कहा है कि आज  3 करोड़ कोरोना फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगेगा। जिसका खर्च स्वयं भारत सरकार ही उठाएगी। 

मायावाती का जन्मदिन पर ऐलान, कहा- विधानसभा चुनाव में नहीं करेगी गठबंधन 

Live update:- 

  • तीन करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स को लगेगा टीका, भारत सरकार उठाएगी खर्च- पीएम मोदी

  • जिसे कोरोना संक्रमण का सबसे अधिक रिस्क, उन्हें सबसे पहले लगेगा टीका- पीएम मोदी

  • पीएम मोदी ने कहा है कि लोगों को ध्यान रखना है कि वैक्सीन की दो डोज लेनी है सभी को 

  • कोरोना को लेकर भावुक हुए पीएम, बोले कुछ साथी अस्पताल से वापिस ही नहीं आए  


निर्याणक चरण में लिया प्रवेश
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि देश कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ शनिवार को निर्णायक चरण में प्रवेश करेगा। उन्होंने ट्वीट किया कि कल 16 जनवरी को देश स्तर पर कोविड-19 टीकाकरण की शुरुआत होगी। कल सुबह साढ़े 10 बजे अभियान आरंभ होगा। प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा कि यह दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम होगा। इसकी शुरुआत के लिए सारी तैयारियां हो चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान की तैयारियों की समीक्षा की और स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्माण भवन परिसर में बनाए गए विशेष कोविड-19 नियंत्रण कक्ष का जायजा लिया।

यूपी में AAP विधायक सोमनाथ भारती को एक मामले में मिली जमानत

हरेक पहलू पर होगी चर्चा
कोविड नियंत्रण कक्ष के अपने दौरे के दौरान हर्षवर्धन ने स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तैयार ऑनलाइन मंच ‘कोविन’ की कार्यप्रणाली के हरेक पहलुओं पर गौर किया। टीकाकरण कार्यक्रम में इस पोर्टल की महत्वपूर्ण भूमिका होगी।  इसके जरिए टीका के भंडार, स्टोरेज के तापमान, लाभार्थियों के नामों का पता लगाया जाएगा। प्रधानमंत्री इस पोर्टल का लोकार्पण करेंगे। केंद्रीय मंत्री ने ‘संचार नियंत्रण कक्ष’ के कामकाज की भी समीक्षा की जिसे कोविड-19 टीके के संबंध में दुष्प्रचार और अफवाहों पर करीबी नजर रखने के लिए बनाया गया है।  

पहले टीके की खुराक दी गई
राजस्थान में जयपुर के सवाई मान सिंह मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य सुधीर भंडारी को सबसे पहले टीके की खुराक दी जाएगी, जबकि मध्यप्रदेश में एक अस्पताल के सुरक्षा गार्ड और एक सहायक समेत अन्य लोग सबसे पहले टीका लेने वालों में शामिल होंगे। गुजरात के अहमदाबाद और गांधीनगर के सरकारी अस्पतालों के चिकित्सा अधीक्षकों समेत कुछ अन्य लोगों को टीके की पहली खुराक दी जाएगी और अभियान के दौरान 16,000 से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों को टीके लगाए जाएंगे। असम में, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हिमंत विश्व सरमा ने बताया कि 1.9 लाख स्वास्थ्यर्किमयों में से 6500 को पहले दिन टीका लगाया जाएगा। 

कृषि मंत्री तोमर बोले- किसान संगठन ठोस मसौदा बनाकर सरकार को दें तो... 

केजरीवाल ने के सामने कोविड का टीका दिया जाएगा
दिल्ली में, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में एलएनजेपी अस्पताल में एक डॉक्टर, एक नर्स और एक सफाई कर्मचारी को कोविड-19 का टीका दिया जाएगा। राष्ट्रीय राजधानी में 81 केंद्रों पर कोविड-19 का टीकाकरण अभियान शुरू होगा।  राजधानी दिल्ली में केंद्र सरकार के सभी अस्पतालों में स्वदेशी टीका कोवैक्सीन का इस्तेमाल किया जाएगा। सूबे के 75 वैक्सीन केंद्रों पर सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड का इस्तेमाल किया जाएगा। केंद्र सरकार के छह अस्पतालों में टीकाकरण केंद्र स्थापित किया गया है।  हां बता दें कि देश में आज से  कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरूआत हो रही है।  
मायावाती का जन्मदिन पर ऐलान, कहा- विधानसभा चुनाव में नहीं करेगी गठबंधन

8000 लोगों को कोरोना का पहले डोज दिया जाएगा
स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक ऐसी व्यवस्था इसलिए की गई है ताकि लाभार्थी को एक ही वैक्सीन का दो डोज लगाने में आसानी होगी। इससे एक ही व्यक्ति पर दो अलग वैक्सीन के इस्तेमाल का खतरा नहीं रहेगा। यहां बता दें कि दिल्ली में पहले दिन कुल 8000 लोगों को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज दिया जाएगा।  कोवैक्सीन लगावाने से पहले करना होगा हस्ताक्षर: जानकारी के मुताबिक को भारत बॉयोटेक की कोवैक्सीन अभी परीक्षण के अंतिम चरण में है। ऐसे मे कोवैक्सीन लेने वाले व्यक्ति को एक सहमति पत्र पर भी हस्ताक्षर करना होगा।  

हस्ताक्षर की प्रकिया लगेगा ज्यादा समय
नियामक बोर्ड ने परीक्षण मोड में इसके इस्तेमाल की मंजूरी दी है। हस्ताक्षर की प्रक्रिया में अधिक समय लगने की संभावना नहीं है क्योंकि सरकार पहले ही कोवाक्सिन की सुरक्षा और प्रभाव को लेकर बहुत सारी जानकारी पहले ही साझा कर चुकी है। लोगों को वैक्सीन से संबंधित विवरण की जानकारी भी है। बावजूद इसके अगर किसी को वैक्सीन से संबंधित जानकारी लेनी हो तो सरकार द्वारा स्थापित चौबिस घंटे सातो दिन सक्रिय रहने वाले हेल्पलाइन नंबर 1075 से सहायता प्राप्त की जा सकती है।  कोवैक्सीन को लेकर एम्स के स्वास्थ्यकर्मी उत्साहित: को वैक्सीन को लेकर एम्स के डॉक्टरों में उत्साह है। रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. आदर्श प्रताप सिंह के मुताबिक टीकाकरण अभियान से आम लोगों को बड़ी राहत मिलेेगी।

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.