Thursday, May 06, 2021
-->
private texi rides will follow 5 essential restrictions for ride vbgunt

बिना एसी के खिड़की डाउन करके चलेंगी ओला-उबर, राइड से पहले लेनी होगी मास्क सेल्फी

  • Updated on 5/20/2020

नई दिल्ली टीम डिजिटल। दिल्ली के सीएम केजरीवाल (cm kejriwal) ने दिल्ली (delhi) में ओला-उबर (ola uber) समेत कैब सर्विस को हरी बत्ती दिखा दी है। मगर साथ ही इन सभी कैब और उनके चालकों के लिए पूरी नियमावली भी तैयार है। सभी ड्राइवरों को और सवारियों को मास्क पहनना होगा। गाड़ी चलाने से पहले मास्क पहन कर सेल्फी भी लेनी होगी और एप्प पर इसे अपलोड भी करना होगा।

AAP सांसद संजय सिंह बोले- मजदूरों के लिए डंडा राज में बदला BJP राज

दिल्ली में टैक्सी सर्विस को ग्रीन सिग्नल
कोरोना वायरस का जानलेवा खौफ पूरी दिल्ली में बढ़ता जा रहा है। पूरे देश को महीने के आखिर तक के लिए लॉक डाउन कर दिया गया है। मगर रेड जोन के हॉट स्पॉट से भरी दिल्ली के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में टैक्सी सर्विस को हरी बत्ती दिखा दी है।

सोनिया गांधी ने प्रवासी मजदूरों पर बुलाई बैठक, 22 मई को होगी विपक्षी दलों में चर्चा

टैक्सी ड्राइवर और सवारियों के लिए 5 प्वाइंट एडवाइजरी
अलबत्ता टैक्सी चालकों के लिए पांच प्वाइंट की एडवाइजरी जारी की है। सभी कैब ड्राइवर को मास्क पहनना और हैंड सैनिटाइजर रखना जरुरी होगा। ये सुनिश्चित करने के लिए कोई भी राइड शुरु करने से पहले चालक को मास्क पहन कर एप्प पर अपनी सेल्फी अपलोड करनी होगी। अभी तक ये क्लीयर नहीं किया गया है कि इस सेल्फी में सवारी या कस्टमर के मास्क का फोटो आना जरुरी है या नहीं।

राज्यों की सहमति के बिना अब श्रमिक ट्रेन चलाएगा रेलवे, देशभर में फंसे मजदूरों को देखते हुए बदला नियम

मास्क, सेनिटाइजर एक्सेक्ट्रा
कोई भी टैक्सी किसी कंटेनमेंट जोन में नहीं ले  जाई जा सकेगी। पूरी राइड के दौरान ड्राइवर को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। ड्राइवर के पास मास्क और सेनिटाइजर होना जरुरी है। हर राइड के बाद मास्क से लेकर हैंडल और सीट वगैरह को सेनिटाइज करना जरूरी होगा। यहां तक कि अगर सवारी या ड्राइवर ने मास्क नहीं पहना है तो दोनों में से कोई भी इस राइड को रद्द कर सकेगा।

अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी पर कांग्रेस बोली- जब नाश मनुज पर छाता है...

कैशलेस पेमेंट कंपल्सरी
मुसाफिरों और ड्राइवर के बीच संपर्क से बचने के लिए कार ड्राइव में कैशलेस ट्रांजेक्शन कंपल्सरी कर दिया गया है। लिहाजा अब कैब का सफर इतना आसान और सुहाना नहीं रहने वाला है। गर्मियों में बिना एसी के शीशे नीचे करके ट्रेवलिंग का कितना सख्ती से पालन किया जा सकेगा, ये तो वक्त ही बताएगा। मगर फिलहाल तो ड्राइवरों को ये नियम रटने और सफलता पूर्वर अपनी राइड पूरी करना ही काफी मुश्किलों भरा होने जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.