Friday, Dec 03, 2021
-->
rahul-sarcasm-at-the-prime-minister-for-his-silence-on-inflation-killing-of-farmers

राहुल ने महंगाई, किसानों की हत्या पर चुप्पी को लेकर प्रधानमंत्री पर किया कटाक्ष

  • Updated on 10/10/2021

नई दिल्ली/नेशलन ब्यूरो। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बढ़ती महंगाई, खाद्य तेलों के बढ़ते दाम, बेरोजगारी और किसानों-राजनीतिक कार्यकर्ताओं की हत्या के मामलों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर तंज कसा है। राहुल ने कहा कि जब उनकी आलोचना और उनके मित्रों पर सवाल किए जाते हैं तब तो वे आक्रोशित हो जाते हैं। उन्होंने पूर्वी लद्दाख सीमा पर चीनी सैनिकों के जमावड़े को लेकर भी केंद्र सरकार पर कटाक्ष किया है।

UP Election: मोदी के गढ़ से प्रियंका ने आगाज किया चुनावी अभियान, मांगा गृह राज्य मंत्री का इस्तीफा

राहुल ने लखीमपुर खीरी हिंसा में चार किसानों समेत आठ मौतों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से अब तक एक भी शब्द या संवेदना तक नहीं जताए जाने को लेकर राहुल ने रविवार को ट्विट किया,‘‘पीएम साइलेंट- बढ़ती महंगाई, तेल के दाम, बेरोजगारी, किसान व भाजपा कार्यकर्ता की हत्या। पीएम वायलेंट -कैमरा व फ़ोटो ऑप में कमी, सच्ची आलोचना, मित्रों पर सवाल।’’ राहुल मंहगाई, खाद्य तेलों, डीजल-पेट्रोल, रसोई गैस की बढ़ती कीमतों और बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर भी केंद्र सरकार पर लगातार हमलावर हैं। अपने इस ट्विट में भी राहुल ने मोदी सरकार को झकझोरने की कोशिश की और यह जताया कि महंगाई से लोग बुरी तरह त्रस्त हैं, जिस ओर सरकार ध्यान नहीं दे रही है।

योगी द्वारा प्रियंका गांधी पर की गई टिप्पणी के विरोध में कांग्रेसी पहुंचे बाल्मीकि मंदिर

दोपहर बाद राहुल ने पूर्वी लद्दाख सीमा से लगे इलाकों में चीन की मौजूदगी को लेकर थल सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे की स्वीकारोक्ति को लेकर भी सरकार से सवाल किया। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के जमावड़े पर जनरल नरवणे के बयान से जुड़ी एक खबर को टैग करते हुए राहुल ने ट्विट किया, ‘‘चीन यहां बने रहने वाला था, कहां? हमारी जमीन पर।’’ दरअसल, थल सेना प्रमुख ने पिछले दिनों एक मीडिया हाउस के कार्यक्रम में यह स्वीकार किया कि पूर्वी लद्दाख सीमा पर बड़े पैमाने पर चीनी सैनिकों का जमावड़ा हुआ, यह चिंता का विषय है? यह अभी भी जारी है और उस तरह के जमावड़े को बनाए रखने के लिए, चीन की ओर से बुनियादी ढांचे का भी इसी पैमाने का विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह है कि पीएलए वहां जमा रहेगा। उन्होंने कहा कि हम इन सभी घटनाक्रमों पर कड़ी नजर रखे हुए हैं, लेकिन अगर वे वहां बने रहेंगे, तो हम भी वहां डटे रहेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.