Saturday, Jan 22, 2022
-->
railway changing rules from tomorrow in advance booking vbgunt

तीन महीने पहले करवा सकेंगे टिकट बुकिंग, कल से लागू होगा बदलाव

  • Updated on 5/30/2020

नई दिल्ली टीम डिजिटल। कोरोना के बाद मरीजों की बढ़ती तादात, संक्रमण का खतरा और लॉक डाउन की घटती-बढ़ती मियाद को देखते हुए रेलवे को भी बार-बार अपने नियमों में बदलाव करना पड़ रहा है। आखिरकार रेलवे ने तीन महीनों आगे तक की तिथि के लिए रिजर्वेशन कराने का नियम बना दिया है। इस नियम पर कल सुबह यानी 31 मई से अमल शुरु हो जाएगा। ट्रेन में करंट सीट बुकिंग, कोटा बुकिंग और बीच के स्टेशनों से भी टिकट बुक कराने का फैसला किया गया है। अभी तक आप एडवांस में सिर्फ एक महीने पहले तक के लिए टिकट बुक करा सकते थे।

रेलवे की श्रमिक ट्रेनें भटकी नहीं, चार ट्रेनों ने ही लिया 72 घंटे से ज्‍यादा वक्‍त: रेलवे बोर्ड

रेलवे के शेड्यूल को दोबारा पटरी पर लाने की कवायद
रेलवे महकमा लॉक डाउन के बाद धीरे-धीरे रेलवे के शेड्यूल को दोबारा पटरी पर लाने की कोशिश कर रहा है। लोग अभी भी दोबारा पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर भरोसा करने से परहेज कर रहे हैं। लिहाजा जनता का भरोसा जीतने और ट्रेनों को ज्यादा से ज्यादा कोरोना फ्री करने के लिए रेलवे को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। एक जून से 200 नई गाड़यों को शुरु किया जाएगा।

रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए की अपील, गर्भवती महिलाएं, बूढ़ें और छोटे बच्चे न करें सफर

श्रमिक स्पेशल से अलग होंगी ये ट्रेन
ये ट्रेन कोरोना श्रमिक स्पेशल और एसी स्पेशल ट्रेनों से अलग होंगी। इनके लिए 22 मई से एडवांस बुकिंग की जा रही हैं। हालांकि इन ट्रेनों के बेहद कम टिकट बेचे जाने से रेलवे महकमे को काफी नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है। लिहाजा कॉमन सर्विस सेंटर की संख्या भी बढ़ाकर दो लाख तक कर दी है। साथ ही ट्रेनों में सामान की भी एडवांस बुकिंग शुरु करवा दी गई है।

कांग्रेस ने मोदी सरकार के 1 साल के कार्यकाल को बताया घोर निराशाजनक, पीएम से हुआ मोहभंग

रेलवे के लिए बढ़ते घाटे से उबरने की जद्दो जहद
रेलवे के लिए कम होती यात्रियों की संख्या और बढ़ते घाटे के बीच तालमेल बिठाना काफी मुश्किल भरा होने जा रहा है। हालांकि रेलवे एक के बाद उपाय करके इस घाटे को पाटने के लिए लगातार कोशिशें कर रहा है। वहीं रेलवे को कोरोना का संवाहक बनने से रोकना भी मंत्रालय के लिए बड़ी मुसीबत होने जा रहा है। हालांकि एयर पोर्ट की तरह रेलवे के लिए भी काफी देर पहले पहुंचने, कोरोना के लिए चैकिंग की कोशिशें की जाएंगी। मगर फिर भी देश के सबसे बड़े परिवहन के इस साधन को सरकार कोरोना से पूरी तरह मुक्त कैसे रख पाएगी, इसे सही तौर पर कहा नहीं जा सकता।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.