Sunday, Nov 27, 2022
-->
Railways eyes on Amarnath Yatra relief work, can run special train for passengers

अमरनाथ यात्रा राहत कार्यों पर रेलवे की नजर, जरूरत हुइ्र तो तुरंत चला सकते हैं यात्रियों के लिए विशेष

  • Updated on 7/9/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अमरनाथ यात्रा के यात्रियों को जम्मू शहर से शनिवार को कश्मीर स्थित दो आधार शिविरों के लिए रवाना कर दिया गया है। यात्रा पर गए लोगों के परिजनों से बहुत से लोग संपर्क में नहीं हैं तो वहीं दूसरी ओर रेलवे ने बताया है कि अभी विशेष प्रबंधों की कोई जरूरत नहीं महसूस की जा रही है। अगर जरूरत हुई तो यात्रियों के लिए जम्मू से विशेष ट्रेन चलाई जा सकती हैं। 
     पवित्र गुफा के पास बादल फटने की घटना में कम से कम से 16 लोगों की मौत होने के बाद यात्रा स्थगित कर दी गई थी। इस साल अमरनाथ यात्रा 43 दिनों तक चलेगी, जिसकी शुरुआत 30 जून को दो रास्तों से हुई थी जिसमें एक  रास्ता 48 किलोमीटर लंबा है, जो दक्षिण कश्मीर के पहलगाम स्थित नूनवन से होकर गुजरता है। वहीं, दूसरा मार्ग अपेक्षाकृत छोटा और 14 किलोमीटर का है, जो खड़ी चढ़ाई वाला है और मध्य कश्मीर के गांदेरबल जिले के बलटाल से होकर गुजरता है।  
     हालांकि, शुक्रवार शाम को पवित्र गुफा के पास बादल फटने की घटना के चलते यात्रा स्थगित कर दी गई थी। बादल फटने के बाद पहाड़ी से नीचे आई मिट्टी और मलबे की चपेट में कई तंबू और सामुदायिक रसोई आ गई थी। मिली जानकारी के मुताबिक अधिकारियों ने यात्रा बहाल कर दी है। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की कड़ी सुरक्षा के बीच 279 वाहनों में सवार 6,048 श्रद्धालुओं का जत्था जम्मू शहर के भगवती नगर यात्री निवास से रवाना किए गए हैं। उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार ने बताया कि हम प्रशासन के साथ लगातार संपर्क में हैं, अभी विशेष रेलगाड़ी चलाने की जरूरत नहीं है। अगर उनकी ओर से मांग आती है तो हम इसके लिए पूरी तरह से तैयार हैं। 
 

comments

.
.
.
.
.