Sunday, Nov 28, 2021
-->
ramnath kovind narendra modi prime minister narendra modi sobhnt

PM मोदी के नाम पर रखा गया दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम का नाम, लोगों ने किया विरोध

  • Updated on 2/24/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath kovind) ने बुधवार को दुनिया के सबसे बड़े और अत्याधुनिक नव सज्जित सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम का उद्घाटन किया जिसका नाम अब देश के प्रधानमंत्री के नाम पर नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) स्टेडियम होगा। इस स्टेडियम में एक लाख 32 हजार दर्शक बैठ सकते हैं। राष्ट्रपति ने गृहमंत्री अमित शाह और खेलमंत्री किरेन रीजीजू समेत कई विशिष्ट अतिथियों की मौजूदगी में स्टेडियम का उद्घाटन किया । यहां भारत और इंग्लैंड के बीच बुधवार से दिन रात का तीसरा और चार मार्च से चौथा टेस्ट खेला जाना है। 

बता दे प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर स्टेडियम का नाम रखे जाने पर लोग उनके इस निर्णय की आलोचना कर रहे हैं। लोग जमकर इस बात का विरोध कर रहे हैं। गुजरात पटेल आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने ट्वीट करके इसे सरदार बल्लभ भाई पटेल की आलोचना की है।    

NSE पर तकनीकी गड़बड़ी के कारण ट्रेडिंग रूकी, लोगों ने ट्विटर पर की शिकायत

शाह ने देश के प्रधानमंत्री के नामकरण से किया नाम
शाह ने उद्घाटन के बाद कहा  कि हमने इसका नामकरण देश के प्रधानमंत्री के नाम पर करने का फैसला किया है। यह मोदीजी का ड्रीम प्रोजेक्ट था। राष्ट्रपति ने मौके पर स्टेडियम में खेल परिसर के निर्माण कार्य की शुरूआत के समारोह में भी भाग लिया। इसका नाम सरदार पटेल खेल परिसर होगा और इसमें फुटबॉल, हॉकी, बास्केटबॉल, कबड्डी, मुक्केबाजी जैसे खेलों की सुविधायें होंगी। करीब 63 एकड़ से अधिक परिसर में फैले इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता एक लाख 32 हजार है और इस पर 800 करोड़ रूपये खर्च किये गए हैं । इससे पहले मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड सबसे बड़ा स्टेडियम था जिसकी दर्शक क्षमता 90000 है ।      

राहुल गांधी के बयान पर हमलावर हुई BJP, ईरानी बोलीं- एहसान फरामोश

32 फुटबॉल स्टेडियम के बराबर है मैदान
प्रेस सूचना ब्यूरो द्वारा जारी सूचना में कहा गया कि  यह ओलंपिक आकार के 32 फुटबॉल स्टेडियमों के बराबर का है।इस मैदान को 2015 में नवीनीकरण के लिये बंद कर दिया गया था। यह क्रिकेट के इतिहास के कई गौरवशाली पलों का साक्षी रहा है। इसमें सुनील गावस्कर का 1987 में 10000 टेस्ट रन पूरे करना और कपिल देव का 432 टेस्ट विकेट लेकर 1994 में सर रिचर्ड हैडली का रिकॉर्ड तोड़ते हुए सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाला गेंदबाज बनना शामिल है ।     एमसीजी की डिजाइन बनाने वाले आस्ट्रेलियाई आर्किटेक्ट फर्म पोपुलस समेत कई विशेषज्ञ इसके निर्माण में शामिल थे ।  इसमें लाल और काली मिट्टी की 11 पिचें बनाई गई है। यह दुनिया का अकेला स्टेडियम है जिसमें मुख्य और अभ्यास पिचों पर एक सी मिट्टी है।      

UPSC के छात्रों को SC से बड़ा झटका, महामारी की वजह से छूटी परीक्षा को नहीं दे पाएंगे दोबारा

सभी खिलाड़ियों ने की प्रशंसा
रीजीजू ने उद्घाटन के मौके पर कहा कि हम बचपन में भारत में सबसे बड़े स्टेडियम का सपना देखते थे और अब बतौर खेलमंत्री इसे पूरा होते देखकर मेरी खुशी का ठिकाना नहीं है। पिछले कुछ दिनों से यहां अभ्यास कर रहे भारत और इंग्लैंड के खिलाडियों ने भी इस मैदान की जमकर प्रशंसा की है। इसमें ऐसा ड्रेनेज सिस्टम लगाया गया है कि बारिश के बाद पानी निकालने के लिये सिर्फ 30 मिनट लगेंगे। इसमें एलईडी लाइट छत के परिमाप के साथ ही फिक्स कर दी गई है जिससे लाइट जलने पर परछाई नहीं बनेगी। यह ऐसा अकेला क्रिकेट स्टेडियम है जिसमें चार ड्रेसिंग रूम है। इसके अलावा क्रिकेट अकादमी, इंडोर अभ्यास पिचें और दो अलग अभ्यास मैदान हैं।  


 

ये भी पढ़ें:

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.