Wednesday, Dec 07, 2022
-->
Regional level framework is necessary to tackle air pollution

वायु प्रदूषण से निपटने के लिए जरूरी है क्षेत्रीय स्तर पर फ्रेमवर्क

  • Updated on 9/7/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। संयुक्त राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय नीले आकाश के लिए स्वच्छ हवा दिवस के अवसर पर साइंस एंड इनवायरन्मेंट (सीएसई) ने चेतावनी दी है कि हवा की कोई सीमा नहीं है, इस वजह से, स्वच्छ वायु के लिए कार्य योजनाओं पर अमल करना होगा। क्योंकि सफाई कार्य के लिए शहरों के चारों ओर कठिन सीमाएं हैं लेकिन उससे प्रदूषण के प्रमुख स्रोतों को नियंत्रित नहीं किया जा सका है। 
    वायु गुणवत्ता विशेषज्ञों ने कहा कि रीजनल फ्रेमवर्क को लागू करने के लिए अंतरराज्यीय परिषदों की स्थापना की जानी चाहिए। क्षेत्रीय स्तर पर वायु गुणवत्ता निगरानी रणनीति अपनाई जाए और प्रदूषण में क्षेत्रीय योगदान का भी आकलन किया जाना चाहिए। एयरशेड के परिसीमन के लिए विधि अपनाएं। वायु गुणवत्ता नियंत्रण क्षेत्रों के क्षेत्रीय वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए एक कानूनी ढांचा अपनाया जाए। व्यापक कार्रवाई के लिए एयरशेड क्षेत्रों को परिभाषित करने के लिए वायु अधिनियम के तहत गंभीर रूप से प्रदूषित क्षेत्र के दायरे का विस्तार करें।
      इसके साथ ही डाउनविंड क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता में योगदान के लिए राज्य, क्षेत्रीय योजनाओं में जिम्मेदारी तय की जाए। वहीं क्षेत्रीय वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए नियामक और संस्थागत ढांचा तैयार हो और लक्षित क्षेत्रों में बहुक्षेत्राधिकार कार्रवाई के लिए निगरानी तंत्र स्थापित किया जाए। साझा जिम्मेदारी तय की जाएं। अपने स्वच्छ वायु अधिनियम में अमेरिका के अच्छे पड़ोसी प्रावधान का अनुकरण करें। 
 

comments

.
.
.
.
.