Wednesday, Jul 06, 2022
-->
rohtak road open, singhu border likely to open today, ghazipur may open till wednesday

रोहतक रोड खुला, सिंघू बॉर्डर आज खुलने के आसार, बुधवार तक खुल सकता है गाजीपुर

  • Updated on 12/13/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली की सीमाओं पर साल भर के आंदोलन के बाद किसानों के घर लौटने के एक दिन बाद रोहतक रोड के टीकरी बॉर्डर मार्ग को रविवार को वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया, जबकि गाजीपुर और ङ्क्षसघू बॉर्डर पर आज दिन भर खाली करने का काम चलता रहा। बचे हुए किसानों ने भी यहां करीबन दर्जन भर जेसीबी लगाकर सामान हटाने व सफाई अभियान में हिस्सा लिया। 

रोहतक रोड पर एक तरफ लगाए गए बैरिकेड को अक्तूबर में यातायात की आवाजाही के लिए हटा दिया गया था और आज दूसरी तरफ, जहां किसान आंदोलन कर रहे थे वहां से भी पूरी तरह से बैरिकेड हटा दिए गए हैं। रास्ते में कोई रुकावट नहीं है और सड़क के दोनों किनारे वाहनों की आवाजाही के लिए पूरी तरह से खुले हैं। 

मुख्य रूप से पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान, तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में अपनी मांगों के लिए पिछले साल 26 नवम्बर को बॉर्डर पर आकर बैठे थे और मांग पूरी होने पर शुक्रवार को वापिस गए हैं। किसान नेताओं ने बताया कि सिंघू बॉर्डर 95 प्रतिशत से अधिक खाली कर दिया गया है और रविवार को किसान समूहों और गैर-सरकारी संगठनों द्वारा सफाई अभियान चलाया गया। संयुक्त किसान मोर्चा के एक प्रतिनिधि ने कहा कि ङ्क्षसघू बॉर्डर पर सफाई का काम चल रहा है। बीस से अधिक जेसीबी और 100 से अधिक स्वयंसेवी यहां अथक प्रयास कर रहे हैं ताकि इस स्थल को जल्द से जल्द खाली किया जा सके।

उन्होंने कहा कि सीमा से बैरिकेड, बोल्डर और कंटीले तारों की परतें हटाई जा रही हैं। एसकेएम के सदस्य अभिमन्यु कोहाड़ यहां मौजूद हैं और उन्होने बताया कि कई संगठन  सफाई  में लगे हैं। यहां दो-चार लंगर, इतने ही तंबू लगे हैं और उम्मीद है कि सोमवार सुबह तक रास्ते को पूरी तरह से खाली कर दिया जाएगा। हालांकि कई जगह सड़क टूटी हुई है और उस पर एनएचएआई के अधिकारी निरीक्षण के बाद यहां यातायात बहाल करेंगे। उम्मीद है कि सोमवार को यह सड़क भी खोली जा सकती है। 

गाजीपुर सीमा पर आधे से ज्यादा किसान आंदोलन स्थल खाली कर अपने मूल स्थानों की ओर रवाना हो गए हैं और बचे तंबू को हटाए जा रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन के एक नेता ने बताया कि सड़क से एक मंच को हटा दिया गया है। सड़क के बाकी हिस्से को भी वाहनों के लिए जल्द खोल देंगे। वहीं उम्मीद है कि सभी किसान यहां से 15 दिसम्बर तक चले जाएंगे और इसके बाद इस सड़क को भी वाहनों के लिए पूरी तरह से खोल दिया जाए। 
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.