Friday, Sep 30, 2022
-->
Security of Punjab will be tough, Center gives 10 more companies of paramilitary forces

पंजाब की सख्त होगी सुरक्षा, केंद्र ने दी अर्धसैनिक बलों की 10 और कंपनियां

  • Updated on 5/19/2022

नई दिल्ली  /सुनील पाण्डेय: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात की और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बासमती की खरीद करने के लिए नोटीफिकेशन जारी करने की मांग की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने बताया कि किसानों को गेहूँ-धान के फसली चक्र में से निकालना समय की जरूरत है। भगवंत मान ने कहा कि इस कदम से राज्य में बहुमूल्य कुदरती स्रोत -पानी को बचाने में बहुत मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इससे राज्य में फसलीय विभिन्नता को भी बढ़ावा मिलेगा। इस मौके पर राज्य की अमन-शांति को भंग करने की बार-बार की जा रही कोशिशों पर चिंता जाहिर करते हुये मुख्यमंत्री ने पंजाब में अर्धसैनिक बलों की 10 अतिरिक्त टुकडिय़ों की मांग की। इसके जवाब में गृह मंत्री अमित शाह ने राज्य में अर्धसैनिक बलों की 10 और कंपनियां तुरंत अलाट की। भगवंत मान ने गृह मंत्री का धन्यवाद करते हुये उनको भरोसा दिलाया कि देश की सुरक्षा और अखंडता की सुरक्षा के लिए पंजाब अहम भूमिका निभाएगा।
  मुख्यमंत्री ने राज्य में गेहूँ की उपज कम निकलने के एवज में किसानों को प्रति क्विंटल 500 रुपए मुआवजा देने की भी मांग की है। उन्होंने कहा कि गर्मी के इस सीजन के दौरान तपिश बढऩे से पंजाब में गेहूं के दानों को नुकसान पहुंचा है और इसलिए किसानों को कम उपज के लिए 500 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से मुआवजा देकर इस भरपायी की जाये। भगवंत मान ने कहा कि राज्य के मेहनती किसानों ने हमारे देश को अनाज उत्पादन में आत्म-निर्भर बनाने में बड़ा योगदान डाला है और अब केंद्र सरकार को इस संकट की घड़ी में उनको बाहर निकालना चाहिए।
  इस मौके पर मुख्यमंत्री ने गृहमंत्री अमित शाह को भाखड़ा ब्यास प्रशासनिक बोर्ड (बीबीएमबी) में से पंजाब का प्रतिनिधित्व ख़त्म करने से सम्बन्धित आदेश रद्द करने की मांग की। साथ ही कहा कि यह पक्षपाती कदम है। इससे हर पंजाबी की मानसिकता को ठेस पहुंची   है। भगवंत मान ने कहा कि केंद्र सरकार को राज्य के संघीय ढांचे को नुकसान पहुंचाने वाले इस प्रतिगामी (प्रगति रोधक) कदम को वापस लेना चाहिए।
   मुख्यमंत्री ने अमित शाह को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बासमती की खरीद के लिए नोटीफिकेशन जारी करने के लिए भी मांग की। साथ ही कहा कि किसानों को गेहूँ-धान के चक्र में से निकालना समय की जरूरत है। इसके लिए बासमती को उत्साहित करना जरूरी है। भगवंत मान ने कहा कि इससे राज्य में पानी के रूप में कीमती स्रोत को बचाने में मदद मिलेगी।
भगवंत मान ने कहा कि देश की सुरक्षा और प्रभुसत्ता की रक्षा के लिए सरहदों पर सुरक्षा और मजबूत करनी होगी। मुख्यमंत्री ने अमित शाह को भरोसा दिलाया कि पंजाब सांप्रदायिक सदभावना, अमन-शांति और भाईचारक सांझ के मूल्यों को हर हाल में बरकरार रखेगा। राज्य को सांप्रदायिक राह पर बाँटने के मंसूबे नाकाम किये जाएंगे और राज्य की अमन-शांति को हर कीमत पर कायम रखा जायेगा। भगवंत मान ने कहा कि पंजाब, हमेशा ही मुल्क की खडग़भुजा रहा है और राज्य इस शानदार परंपरा को कायम रखेगा।
   
एंटी ड्रोन तकनीक मुहैया करवाने की मांग

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने गृहमंत्री के समझ ड्रोन के द्वारा सरहद पार से बढ़ रही नशे और हथियारों की तस्करी का मुद्दा उठाया। साथ ही चिंता जाहिर की और गृहमंत्री अमित शाह को ऐसी कोशिशों को नाकाम करने के लिए राज्य को तुरंत एंटी ड्रोन तकनीक मुहैया करवाने के लिए मांग की। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा सबसे अधिक महत्वपूर्ण है, जिसके लिए राजनीति से ऊपर उठ कर मिलजुल कर काम करना चाहिए। 

comments

.
.
.
.
.