Sunday, Dec 04, 2022
-->
sequential meetings in congress on election preparation and pk

चुनावी तैयारी और प्रशांत किशोर को लेकर कांग्रेस में सिलसिलेवार बैठकें

  • Updated on 4/19/2022

नई दिल्ली/नेशनल ब्यूरो। आने वाले चुनावों की तैयारी, संगठनात्मक सुधारों और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (PK) को कांग्रेस में शामिल करने तथा उनके दिए सुझावों पर अमल करने को लेकर कांग्रेस में लगातार मंथन चल रहा है। बीते चार दिनों में तीसरी बार पार्टी के शीर्ष नेता इस मुद्दे पर चर्चा के लिए बैठे। इसी बीच चुनावी हार पर चर्चा के लिए होने वाले चिंतन शिविर की तारीख भी तय हो गई है। यह शिविर राजस्थान के उदयपुर में अगले महीने होगी।

2024 की तैयारी! सोनिया से मिलीं महबूबा ..PK संग प्रियंका की लंबी बैठक
पिछले चार दिनों में पार्टी के नेता मंगलवार को तीसरी बार सोनिया गांधी के निवास पर चुनावी तैयारियों पर चर्चा के लिए बैठे। इसके पहले शनिवार को चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक हुई थी, जिसमें सोनिया के अलावा राहुल गांधी भी मौजूद थे। प्रशांत ने कांग्रेस में शामिल होने का प्रस्ताव और चुनावी जीत के लिए कई सुझाव दिए थे। इसके बाद सोमवार को फिर पार्टी के शीर्ष नेताओं की बैठक हुई। उसी दौरान पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती भी सोनिया गांधी से मिलने पहुंची थीं। मंगलवार की बैठक में पार्टी महासचिव के.सी. वेणुगोपाल, प्रियंका गांधी, रणदीप सुरजेवाला, ए.के. एंटनी, अंबिका सोनी, पी. चिदम्बरम, मुकुल वासनिक, दिग्विजय सिंह, जयराम रमेश के अलावा कमलनाथ भी शामिल थे।

PK कांग्रेस में शामिल होंगे?, सोनिया लेंगी फैसला
प्रशांत किशोर को कांग्रेस में शामिल करने की अटकलों पर पार्टी के वरिष्ठ नेता वीरप्पा मोइली ने कहा कि किशोर को कांग्रेस में शामिल किया जाना चाहिए। लेकिन सूत्रों का कहना है कि इस पर फैसला सोनिया गांधी के ऊपर छोड़ दिया गया है। वहीं, बताया जा रहा है कि राहुल गांधी अंतिम फैसले से पहले प्रशांत किशोर का उपयोग प्रयोग के तौर पर इस साल होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव में करने के इच्छुक हैं। सूत्रों का कहना है कि प्रशांत किशोर ने 2024 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को 370 सीटों पर फोकस करने और महाराष्ट्र, बंगाल और तमिलनाडु में प्रभावशाली क्षेत्रीय दल के साथ गठबंधन में तथा ओडिशा, बिहार और उत्तर प्रदेश में अकेले चुनाव लडऩे की टिप्स दी है।

PK के Tips जांचने को कांग्रेस ने बनाई कमेटी
बताया जा रहा है कि प्रशांत ने यही फारमूला विधानसभा चुनावों के लिए भी दिया है। जिस राज्य में कांग्रेस मजबूत है, वहां अकेले लड़े और जहां क्षेत्रीय दल मजबूत हैं, उनके नेतृत्व में गठबंधन में लड़े। फिलहाल कांग्रेस ने प्रशांत किशोर के दिए सुझावों की व्यावहारिकता परखने को एके एंटनी, मल्लिकार्जुन खडग़े और अंबिका सोनी की एक कमेटी बना दी है।

13 से 15 मई को कांग्रेस का चिंतन शिविर
कांग्रेस ने चुनावी हार और संगठनात्मक बदलावों की उठ रही मांग पर विस्तार से चर्चा के लिए कांग्रेस ने 13 से 15 मई के बीच राजस्थान के उदयपुर में चिंतन शिविर के आयोजन का फैसला लिया है। इसके पहले कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक भी संभावित बताई जा रही है। शिविर में शीर्ष और वरिष्ठ नेताओं समेत करीब 400 प्रतिनिधियों के शामिल होने की संभावना है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.