Friday, May 14, 2021
-->
sick-lalu-yadav-will-come-to-delhi-today

लालू ने थर्डफ्रंट की संभावना को किया खारिज, कहा- कांग्रेस के बिना कोई मोर्चा नहीं

  • Updated on 3/29/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चारा घोटाला मामले में जेल में सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और राजद अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव को बेहतर इलाज के लिए आज दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) लाए गए।दिल्ली लाए जाने के बाद लालू ने विपक्षी दलों से जल्द इकट्ठा होने और देश को सशक्त विकल्प देने की अपील की। लालू ने थर्ड फ्रंट की संभावना को खारिज करते हुए कहा कि कोई भी मोर्चा हो उसमें कांग्रेस जरूर होगी।

लालू ने कहा कि जब विपक्ष के साथ कांग्रेस है तो अलग से मोर्चा बनाने की क्या जरूरत है। उन्होंने कहा - मैं जहां भी रहूंगा विपक्षी एकता के लिए लगा रहूंगा। बिहार सरकार पर हमला करते हुए लालब ने कहा कि बिहार में सरकार बेकाबू हो चुकी है।

लालू की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती ने कहा कि राजनीति के चलते लालू जी को प्लेन से दिल्‍ली नहीं लाया गया।लालू  के बेटे भी आरोप लगा चुके हैं कि लालू की हत्या कराई जा सकती है। उन्हें रांची के राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्‍स) से दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्‍स) में लाया जा रहा है। लालू को रांची से दिल्ली गृह विभाग की अनुमति के बाद लाया जा रहा है।

डेटा लीक प्रकरण : Facebook CEO जुकरबर्ग को मोदी सरकार ने दिया नोटिस

बीमार लालू की हालत रिम्स में इलाज के बाद भी नहीं सुधर रही थी। इसी के चलते स्वास्थ्य जांच के लिए मंगलवार को रिम्स मेडिकल बोर्ड की बैठक हुई थी। अस्पताल अधीक्षक डॉ. एसके चौधरी ने बताया कि लालू प्रसाद को कई तरह की बीमारियां हैं। इसलिए उनके स्वास्थ्य के बारे में कंबाइंड ओपिनियन जानने के लिए विशेषज्ञों की राय लेनी जरूरी है। ऐसे में उन्हें एम्स या किसी हायर इंस्टीट्यूशन में ले जाना उचित होगा। 

इसलिए जेल प्रबंधन ने सीबीआई कोर्ट से लालू को दिल्ली लाने की अनुमति ली। अदालत से अनुरोध किया था कि लालू प्रसाद को रिम्स के मेडिकल बोर्ड की अनुशंसा के आधार पर बेहतर इलाज के लिए एम्स ले जाना है। अदालत ने अनुमति प्रदान कर दी थी। इसके बाद जेल प्रशासन ने लालू को दिल्‍ली भेजने के लिए गृह विभाग से अनुमति मांगी थी। 

कर्नाटक विस चुनाव: कांग्रेस में शुरू हुआ प्रत्याशियों के चयन के लिए मंथन 

बुधवार को गृह विभाग ने अनुमति दे दी। गृह विभाग और कोर्ट की अनुमति मिलने के बाद लालू यादव को राजधानी एक्‍सप्रेस से दिल्‍ली ले जाया जा रहा है। उन्‍हें कोच नंबर एच-1 के केबिन ए में बर्थ मिली है। हालांकि, लालू प्रसाद अपने खर्च पर हवाई जहाज से दिल्ली जाना चाहते थे। इसके लिए लालू प्रसाद ने जेल अधीक्षक को पत्र लिखा था। कहा था कि रिम्स के चिकित्सकों की टीम द्वारा जांच के बाद उन्हें नई दिल्ली स्थित एम्स या कोई हाइयर इंस्टिट्यूशन में इलाज के लिए रेफर किया गया है।

इसलिए वह अपने खर्च से हवाई जहाज द्वारा नई दिल्ली इलाज के लिए जाना चाहते हैं। यदि आवश्यक हुआ तो एक सुरक्षाकर्मी को भी अपने खर्चे पर हवाई जहाज से अपने साथ ले जाने के लिए तैयार हैं। लेकिन उन्हें हवाई जहाज से ले जाने की अनुमति नहीं मिली।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.