Friday, Apr 10, 2020
snowfall-in-the-mountains-hail-in-the-plains-heavy-damage-to-crops

पहाड़ों पर बर्फबारी, मैदानों में ओले-ओले, फसलों को भारी नुकसान

  • Updated on 3/1/2020

नई दिल्ली /टीम डिजिटल। पिछले 24 घंटों के दौरान पूरे उत्तर और मध्य भारत (North and Central India) में मौसम (weather) ने करवट ली। सुबह कुछ देर मैदानी इलाकों (plains) में काले बादल घुमड़ने के बाद अंधेरा छा गया और कई बार बारिश (raining) के साथ ओले पड़े। इससे पिछले कुछ दिनों से बढ़े तापमान (weather) में गिरावट आने के साथ-साथ ओलावृष्टि (snowfall) से फसलों (crops) को नुक्सान पहुंचा है। बारिश के साथ-साथ दिनभर तेज हवा भी चलती रही जिससे मौसम ठंडा हो गया। अगले चौबीस घंटों में बारिश के आसार हैं।

किसानों के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अब होगी स्वैच्छिक

पंजाब समेत कई राज्यों में फसलों को भारी नुक्सान, तापमान में आई गिरावट
उधर, जम्मू-कश्मीर में शनिवार को ताजा हिमपात और हिमस्खलन के कारण सीमावर्ती कुपवाड़ा जिले में नियंत्रण रेखा से लगे क्षेत्रों और दूरदराज के कई इलाकों का राज्य के अन्य हिस्सों से संपर्क दूसरे दिन भी टूटा रहा। कुपवाड़ा-केरन, कुपवाड़ा-कारनाह और कुपवाड़ा-माचिल मार्गों पर यातायात बंद कर दिया गया है। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से 3 ओर से घिरे गुुरेज शहर को बांदीपुरा से जोडऩे वाली सड़क और राजदान दर्रा बर्फ जमी रहने के कारण 2 महीनों से अधिक समय से बंद है। इधर, हिमाचल में बर्फबारी के साथ बारिश और ओले पड़े।

गुजरात: कांग्रेस ने फसल बीमा के भुगतान में घोटाले का लगाया आरोप

शिमला के कुफरी में भारी बर्फबारी
शनिवार दोपहर बाद शिमला के कुफरी में भारी बर्फबारी शुरू हो गई। इस कारण शिमला से नारकंडा एन.एच.-5 पर आवाजाही बंद हो गई है। दोपहर को काले बादलों से मानो अंधेरा हो गया। शिमला, सोलन व कांगड़ा में वाहन चालकों ने लाइटें ऑन करके गाडिय़ां चलाईं। सोलन जिले में भारी ओलावृष्टि से फसलों को नुक्सान पहुंचा है। मौसम विभाग ने जनजातीय जिला किन्नौर, लाहौल-स्पीति व कुल्लू जिले को छोड़कर बारिश व ओलावृष्टि की संभावना जताई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.