Tuesday, Dec 07, 2021
-->
supreme court shaheen bagh caa protest place occupied sobhnt

शाहीन बाग मामले पर SC ने कहा- धरने की इजाजत मगर सीमा होनी चाहिए तय

  • Updated on 10/7/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen bagh) मामले में अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने कहा है कि सार्वजनिक स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किया जा सकता है मगर अनिश्चितकाल के लिए नहीं। इस तरह के मामलों में प्रशासन को खुद ही बिना कोर्ट की इजाजत के कार्यवाही करनी चाहिए। कोर्ट ने साफ कहा कि इस तरह के प्रदर्शन स्वीकार्य नहीं हैं। 

आरोपी सांसदों और विधायकों को गिरफ्तार करने में पुलिस की अनिच्छा गंभीर मामला- सुप्रीम कोर्ट

धरना वहां करें जहां आवाजाही न हो
कोर्ट ने साफ-साफ कहा है कि अनिश्चितकाल धरना ऐसी जगह होना चाहिए जहां लोगों की आवाजाही न होती हो। लोगों को परेशानी में डाल कर कोई धरना नहीं किया जा सकता। धरना करने वाले को सार्वजनिक जगहों पर धरने का अधिकार है मगर उसकी एक सीमा होनी ही चाहिए।  

शाहीन बाग मामले पर SC ने कहा- धरने की इजाजत मगर सीमा होनी चाहिए तय

प्रशासन को प्रदर्शन हटाने की होगी इजाजत
कोर्ट ने कहा है कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि सार्वजनिक स्थानों पर अनिश्चित काल तक धरना नहीं किया जा सकता। धरना करने के लिए कुछ अलग स्थानों पर ही किया जा सकता है। जहां किसी को किसी के आने जाने से कोई परेशानी न हो। अगर शाहीन बाग जैसे प्रदर्शन होते हैं तो प्रशासन को रास्ता जाम कर रहे प्रदर्शनकारियों को हटाना होगा।
 

यहां पढ़ें अन्य महत्वपूर्ण खबरें-

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.