Tuesday, Aug 16, 2022
-->
the big announcement of the center the third dose of vaccine will be given volunteers anjsnt

कोरोना के U- Turn पर केंद्र का बड़ा ऐलान, कहा- देशवासियों को दी जाएगी वैक्सीन की तीसरी डोज

  • Updated on 4/2/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। वैक्सीनेशन प्रकिया के बीच एक बार आए कोरोना(Covid-19)  ने अपना कहर बरपाना शुरु कर दिया है। ऐसे में सरकार वैक्सीन के तीसरे डोज को देने का प्लान कर रही है। सरकार इस डोज को बूस्टर डोज का नाम दे रही है।अभी तक सरकार ने ऐलान किया कि सभी देशवासियों को वैक्सीन की दो डोज दी जाएगी। हालांकि अब एक्सपर्ट के एक पैनल ने भारत बायोटेक की  वैक्सीन तीसरी डोज देने की अनुमति दे दी है।

रिपोर्ट: महामारी के दौरान Mgnrega बना मसीहा, 11 करोड़ से अधिक बेरोजगारों को दी नौकरी

6 महीने बाद दिया जाएगी तीसरी डोज
बताया जा रहा है कि  एक्सपर्ट के एक पैनल ने तीसरे यानि की बूसटर डोज की अनुमति देते हुए कहा कि ये डोज दूसरे डोज के 6 महीने बाद दी जाएगी। इसका एक फायदा ये भी है कि अगर वायरस का कोई नया वैरिएंट आता है तो ये तीसरी डोज मानव शरीर को उस  वैरिएंट से लड़ने के लिए मजबूत बनाएगा।

इन लोगों को लगेगी वैक्सीन की तीसरी डोज
एक्सपर्ट पैनल ने बताया कि ये बूस्टर डोज उन वॉलंटियर्स को पहले दी जाएगी जो क्लीनिकल ट्रायल का हिस्सा हैं। आपको बता दें कि भारत बायोटेक ने कोरोना के यू टर्न के कारण सरकार के सामने प्रस्ताव रखा था कि वो इस तीसरे डोज की अनुमति दें। 

एंटीलिया केस में आया नया मोड़! NIA के हत्थे चढ़ी सचिन वाझे की मिस्ट्री गर्ल

6 महीने तक रखी जाएगी निगरानी
भारत बायोटेक ने बताया कि जिसको भी वैक्सीन की तीसरी डोज दी जाएगी  उसको 6 महीने तक निगरानी में रखा जाएगा। जिससे कि उन व्यक्तियों के शरीर में होने वाले बदलावों और इम्यूनिटी के लेवल के घटने और बढ़ने को बारीकी से परखा जाए।  इसके साथ ही तीसरी बूस्टर डोज लगने के बाद किसी को कोई साइड इफेक्ट न हो इसका भी ध्यान रखा जाएगा।

देश में कोरोना का कहर
भारत में बीते 24 घंटे में  कोविड-19 (Covid-19) के 81,466 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,23,03,131 हो गई। इस वर्ष सामने आए संक्रमण के ये सर्वाधिक मामले हैं। 

कोविड-19 से मृत्यु दर 1.33 प्रतिशत
आंकड़ों के अनुसार, पिछले 22 दिनों से लगातार बढ़ते नए मामलों के साथ ही उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी बढ़कर 5,84,055 हो गई, जो कुल मामलों का 4.78 प्रतिशत है। इस साल 12 फरवरी को उपचाराधीन मरीजों की संख्या सबसे कम 1,35,926 थी, जो तब के कुल मामलों का 1.25 प्रतिशत थी। देश में अभी तक कुल 1,14,74,683 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और मरीजों के ठीक होने की दर 93.89 प्रतिशत है। वहीं, कोविड-19 से मृत्यु दर 1.33 प्रतिशत है।

पढ़ें बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.