Wednesday, May 12, 2021
-->
the city indor is getting better now with improving rate of patients vbgunt

कभी डॉक्टर तो कभी पुलिस पर हमला, मगर अब सुधर रहे हैं इंदौर के हालात

  • Updated on 4/30/2020

नई दिल्ली टीम डिजिटल। कोरोना (corona virus) के मामले सामने आने के बाद से सुर्खियों में छाए इंदौर में अब हालात बेहतर होते जा रहे हैं। मरीजों की रिकवरी तेज होने के चलते शहर को दोबारा मुस्कुराने की वजह मिलती दिख रही हैं। आलम ये है कि सिर्फ मंगलवार को ही 94 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव (corona positive) आई वहीं 48 लोगों को छुट्टी दे दी गई। अभी तक एक दिन में कोरोना से ठीक होने वाले मरीजो की ये सबसे बड़ी संख्या है।

लॉकडाउन में फंसे गांव जाने के इच्छुक गृहमंत्रालय की इन गाइडलाइन्स पर जरुर करें गौर

मेडिकल टीम के लिए बदनाम हुआ शहर इंदौर
कोरोना के तेजी से फैलते मामलों के बीच सबसे पहले इंदौर (indaur) का नाम सुर्खियों में चिकित्सकों पर हमले की वारदात पर आया था। तबलीगी जमात के लोगों की जांच के लिए पहुंची मेडिकल टीम के खिलाफ हमलावर हुई अल्पसंख्यकों ने मेडिकल टीम पर हमला बोल दिया था। इस हमले में दिनरात मरीजों की तीमारदारी में लगे दो चिकित्सक बुरी तरह घायल हो गए थे।

आखिर क्यों खास है किम जोंग उन की शाही रेल गाड़ी, जानिए क्या-क्या रखते हैं इस लक्जरी ट्रेन में

राहत इंदौरी ने भी लोगों की शर्मनाक हरकत के लिए लताड़ा
इस हमले की देश भर में निंदा की गई। खुद मशहूर शायर राहत इंदौरी ने इस हमले को बेहद शर्मनाक बताते हुए इन अपराधियों को लताड़ा था। यहां तक कि इसी इलाके के व्यापारियों ने मेडिकल टीम से माफी तक मांगी थी। मगर कुछ ही दिनों बाद दोबारा लॉक डाउन का पालन करवाने पहुंची पुलिस की टीम पर दोबारा हमला बोल दिया गया। लिहाजा इंदौर की छवि लगातार बिगड़ती ही गई। देश भर में इस शहक को लानत-मलानत का सामना अलग करना पड़ा।

31,587 लोग कोरोना से संक्रमित, मरने वालों का आंकड़ा एक हजार से पार

मंत्री तुलसी ने की मरीजोंं से प्लाजमा दान करने की अपील
सूबे के मंत्री तुलसी सिलाबट ने सभी ठीक हुए मरीजों से अपना प्लाजमा दान करने की अपील की है। फिलहाल सभी मरीजों को स्वास्थ्य लाभ करने और अब लॉक डाउन के नियमों का कड़ाई से पालन करने की सलाह दी जा रही है। आलम ये हैं कि फिलहाल शहर के 90 पीसदी वैंटिलेटर भी खाली पड़े हैं। एक दौर में 2471 मरीजों से घिर चुके अस्पताल में फिलहाल 1401 मरीज घर लौट चुके हैं। अब सिर्फ 668 मरीजों को ही जांच के लिए अस्पताल में रखा  गया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.