Tuesday, Jan 25, 2022
-->
the wise mother saving the life of the family from own corona positive son vbgunt

ममता पर भारी पड़ी इंसानियत, 'मदर इंडिया' बेटे की कोरोना जांच करवा कर भेजा क्वारंटाइन

  • Updated on 5/20/2020

नई दिल्ली टीम डिजिटल। देश भर में श्रमिकों (migrants) के घर वापस लौटने का सिलसिला जारी है। इन्हीं लोगों के साथ कोरोना (corona virus) भी गांव-देहात में बढ़त बनाए जा रहा है। ऐसे लोग अगर घर में आने से पहले अपनी कोरोना की जांच करवा लें तो सारा कन्फ्यूजन (confusion) दूर हो सकता है, मगर अपनी, अपने परिवार की और अपने पूरे इलाके की जान की कीमत पर ये लोग बिना जांच कराए या सिर्फ कुछ दिनों के क्वारंटाइन से बचने के लिए जांच से बच रहे हैं। मगर मुंबई (mumbai) से आए एक युवक की मां ने इस मामले में मिसाल कायम की है। किसी तरह मुंबई से लौटे इस युवक की मां ने उसके घर में घुसने से पहले उसे जांच करवाने और कोरोना फ्री होकर ही घर में आने की सख्त हिदायत दे डाली।

ना गर्मी ना नमीं, फिलहाल तो कोरोना वायरस से रहम की कोई उम्मीद नहीं...!

पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी मदर इंडिया
पूरे इलाके में इस समझदार मां के बर्ताव की तारीफ की जा रही है। यूपी के शाहजहां पुर के खांडेपुर गांव का ये लड़का मुंबई में सैलून में काम करता है। मगर लॉक डाउन हुआ, काम बंद, पैसे खत्म, भूख की कगार पर आने के बाद लड़के ने अपने घर में मदद की पुकार लगाई। मां ने किसी तरह तीन हजार रुपए का बंदोबस्त करवा कर लड़के तक पैसा पहुंचाया। किसी तरह बेटा वापस पहुंचा, चार महीने पहले ही निकाह पढ़ा गया था।

प्रवासी श्रमिकों को लेकर फिर सख्त हुआ केंद्रीय गृहमंत्रालय, अफवाहों को लेकर राज्यों को किया अलर्ट

नई नवेली बहु को बस थोड़ा और इंतजार
नई-नवेली बहु अपने पति से मिलने की उम्मीदें संजोए बैठी थी। मगर मां ने पूरे परिवार के नौ सदस्यों की जान की कीमत समझी और बेटे को पहले अपनी कोरोना की जांच करवाने के लिए अस्पताल रवाना कर दिया। जांच में कोरोना पॉजिटिव आया है और बेटे को अगले दो हफ्तों के लिए क्वारंटाइन होने का आदेश मिला है।

अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी पर कांग्रेस बोली- जब नाश मनुज पर छाता है...

कोरोना से जीतने के बाद करेगी बेटे के स्वागत
मां को अभी भी अपने बेटे का इंतजार है, मगर कोरोना से जंग जीतने के बाद। पूरे परिवार की जिम्मेदारी सिर पर है। पूरा इलाका इस समझदार मां की नजीर दे रहा है। पूरे परिवार और अपने इलाके, अपने  गांव को कोरोना से बचाने वाली इस मां को जल्दी ही उसके बेटे से मिलने दिया जाएगा। मगर इससे पहले बेटे को बचे-खुचे दिन का इलाज पूरा करवाना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.