Monday, May 23, 2022
-->
TMC Parliamentary Party leader Derek O''Brien suspended for the remainder of the session

TMC संसदीय दल नेता Derek O'Brien संसद सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित

  • Updated on 12/21/2021

नई दिल्ली/नेशनल ब्यूरो। राज्यसभा के 12 निलंबित सांसदों का मसला अभी सुलझा नहीं कि मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस के संसदीय दल नेता डेरेक ओ ब्रायन को भी संसद के शीतकालीन सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित कर दिया गया। उन पर सदन की नियमावली पुस्तिका आसन की ओर उछालने का आरोप है।

बीजेपी सांसदों को निर्देश, सभी बूथ अध्यक्षों एवं पन्ना प्रमुखों के साथ जरूर करें बैठक
हुआ यह कि उच्च सदन में ‘निर्वाचन विधि (संशोधन) विधेयक, 2021’ पर चर्चा के बाद इसे पारित करने की प्रक्रिया चल रही थी। तभी विपक्ष के कुछ सदस्यों ने अपने अपने संशोधनों पर मत विभाजन की मांग की। इसी दौरान कुछ विपक्षी सदस्य लखीमपुर खीरी मामले को लेकर गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ के इस्तीफे तथा 12 सदस्यों का निलंबन वापस लिए जाने की मांग करते हुए आसन के सामने हंगामा करने लगे। तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन, सुखेंदु शेखर राय, माकपा के जॉन ब्रिटस ने नियमों का हवाला देते हुए व्यवस्था का प्रश्न उठाया। उप सभापति हरिवंश ने कहा कि वह मत विभाजन के लिए तैयार हैं लेकिन इसके लिए आसन के समक्ष आए सदस्यों को अपने स्थानों पर जाना होगा। आसन की व्यवस्था पर असंतोष जताते हुए तमतमाए डेरेक ओ ब्रायन ने राज्यसभा की नियमावली पुस्तिका महासचिव की ओर उछाल दी और अपने साथी टीएमसी सांसदों के साथ सदन से वाकआउट कर गए।

अखिलेश यादव का ऐलान- सरकार बनने पर 3 महीने में कराएंगे जाति आधारित जनगणना
डेरेक के व्यवहार पर क्षोभ व्यक्त करते हुए सदन के नेता और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि यह केवल टेबल ऑफिस का ही नहीं बल्कि पूरे देश का अपमान है। इस बीच पीठासीन अध्यक्ष डॉ सस्मित पात्रा ने ओ ब्रायन द्वारा नियमावली पुस्तिका आसन की ओर उछाले जाने का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि स्पष्ट रूप से पुस्तिका आसन की ओर उछाली गई थी जो आसन को, महासचिव को या किसी को भी लग सकती थी। पात्रा ने कहा कि इस तरह नियमावली पुस्तिका को अधिकारियों की मेज की ओर उछाला जाना संसदीय परंपराओं का घोर उल्लंघन है और सदन इसकी भत्र्सना करता है। डेरेक ओब्रायन सदन में अपनी पार्टी के नेता हैं और उन्हें सदन की गरिमा बनाए रखना चाहिए जबकि उन्होंने सदन की गरिमा पर आघात किया और उनका यह कृत्य घोर निदंनीय है।

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी की मांग लेकर विपक्षी नेताओं ने मार्च निकाला
इसके बाद संसदीय कार्य राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने डेरेक ओब्रायन को वर्तमान शीतकालीन सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित करने का प्रस्ताव रखा जिसे सदन ने ध्वनिमत से मंजूरी दे दी। इसके बाद सदन की बैठक कल बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी गई। शीतकालीन सत्र में राज्यसभा से निलंबित होने वाले डेरेक ओ ब्रायन 13वें सांसद हैं। इसके पहले पिछले सत्र के दौरान अशोभनीय आचरण के आरोप में टीएमसी समेत कई दलों के 12 राज्यसभा सांसद इस सत्र के पहले दिन ही शेष अवधि के लिए निलंबित कर दिए गए थे। बहाली की मांग लेकर निलंबित सांसद सदन चलने के दौरान संसद परिसर में महात्मा गांधी प्रतिमा के सामने धरना दे रहे हैं।

comments

.
.
.
.
.