visit  buddhist caves located in manavali are the best place to visit for tourist

सैर-सपाटे के लिहाज से बेहतरीन जगह है मानावली स्थित बौद्ध गुफाएं

  • Updated on 8/22/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आज-कल हमारी जिंदगी शहर के शोर शराबे और ट्रैफिक जाम में फस कर रह गई है। आज हम आपके जिंदगी के कुछ पल लेकर आपको एक नई जगह के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां जाते ही आपके मन को उस शांति का अनुभव होगा जिसकी तलाश आपको कई अर्शे से होगी। इस जगह के वातावरण में इतना सुकून है कि एक बार यहां जाकर आपका मन फिर यहीं रह जाने को करेगा। इतना ही नहीं यहां आते ही आपको अपार शांति के साथ जिंदगी को देखने का एक नया नजरिया भी मिलेगा। 

यहां मिलेगा पंजाबी जायके के साथ पंजाब की खूबसूरती का मजा

Related image

हम आपको ले चलते है बौद्ध धर्म की गुफाओं की ओर जो देश के पश्चिमी हिस्से में स्थित हैं। यहां आने के लिए आपको लोनावला से पुणे जाने वाले एक्सप्रेस वे पर मानावली में बौद्ध धर्म से संबंधित बहुत सी गुफाएं दिखेंगी। बस यही होगा आपका स्टॉप। आप यह जानकर दंग रह जाएंगे की इन चट्टनों को बनाने के लिए किसी बाहरी रो मटेरियल का इस्तेमाल नहीं किया गया है बल्कि इसका निर्माण चट्टानों को तराश कर किया गया है। मौजूद गुफाओं में से एक गुफा का नाम कार्ले है। इस कार्ले गुफा का निर्माण ईसा पूर्व दूसरी सदी में किया गया था। आपको गुफाओं में एक अनोखे किस्म की नक्काशी देखने को मिलेगी।  

खुले वातावरण में खाना खाने के हैं शौकीन, तो आपके लिए है ये खास जगह

Related image

गुफाओं का निर्माण बौद्ध धर्म के हीनयान संप्रदाय द्वारा किया गया था। कुछ समय उपरांत इन गुफाओं को महायान संप्रदाय ने अपने कब्जे में ले लिया। गुफा के बाहर देखने पर आपको कोली नाम का मंदिर दिखाई देगा। बौद्ध धर्म की इस पवित्र भूमि पर एक या दो गुफा नहीं बल्कि ऐसी 16 गुफाओं में घूमने का अवसर प्राप्त होगा।आपको इन अद्भुत गुफाओं में बौद्ध धर्म का सबसे बड़ा प्रार्थना स्थल भी दिखाई देगा। इस प्रार्थना स्थल को चैत्यग्रह के नाम से जाना जाता है। इसकी छत छह स्तंभो पर टिकी है। स्तंभों पर आपको इंसान, हाथी, घोडे़ की मनमोहक मूर्तियां दिखाई देंगी जिन्हें देखकर नजर हटाना मुश्किल हो जाएगा।

कैंसर और डायबिटीज जैसे कई गंभीर बीमारियों से लड़ने में मदद करता है Red Wine का एक ग्लास

Related image

इसके आखिर में आपको स्तूप दिखाई देगा जो प्रवेश द्वार पर बनी खिड़की से सूर्य के प्रकाश को पाते ही जगमगा उठता है। इतना ही नहीं गुफा में आपको सारनाथ के जैसा ही अशोक स्तंभ भी दिखाई देगा। किसी समय में ये गुफाएं बौद्ध मठ हुआ करती थीं। आपका परिचय यहां बौद्ध धर्म की उस कलाकरी से होगा जिसे देखते ही आप उसके कायल हो जाएंगे। मानो अतीत आपको छू कर गुजर गया हो। कुछ पल के लिए आपको लगेगा की आप भगवान बौद्ध की किसी सभा में बैठे हैं। 

ऐसे जाएं 
सुकून और अपार शांति से भरी इस अद्भूत जगह पर जाने के लिए आपको लोनावाला रेलवे स्टेशन जाना होगा। अगर आप रुकते हुए सफर का आनंद लेते हुए जाना चाहते हैं तो आप बस या कैब से भी आसानी से जा सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.