Tuesday, Mar 21, 2023
-->
west bengal tmc sita kalyan benerjee mamta benerjee sobhnt

TMC सांसद कल्याण बनर्जी ने देवी सीता पर दिया विवादित बयान, दर्ज हुई FIR

  • Updated on 1/11/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  पश्चिम बंगाल (West Bengal) में देवी सीता को लेकर तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सांसद कल्याण बनर्जी का एक बयान ने विवाद खड़ा कर दिया है। सांसद का बयान इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें उन्होंने देवी सीता पर अपमानजनक टिप्पणी की थी। जिसके बाद अब उनके खिलाफ राज्य में एफआईआर दर्ज कराई गई है और उनसे मांग की गई है कि वह अपने बयान के लिए माफी मांगे।  

सपा सरकार में चपरासी-चौकीदारों को बनाया अधिकारी, योगी ने फिर भेजा मूल पद पर वापस

दिया विवादित बयान 
बता दें उनके विवादित बयान पर टिप्पणी करते हुए बीजेपी नेता लॉकेट चटर्जी ने कहा है कि कल्याण बनर्जी ने हमारी भावनाओं को आहत किया है। वह कहते हैं कि वह हमारी परंपरा, रामायण और महाभारत का अपमान कर रहे हैं। वह कहते हैं कि ममता बनर्जी और उनके सांसद को इसके लिए मांफी मांगनी चाहिए। अगर वह मांफी नहीं मांगते तो उन्हें इसका जवाब 2021 में मिलेगा।  

Farmers Protest: नरेश टिकैत ने अपने ही लोगों पर उठाए सवाल, कहा- 2-3 नेता नहीं चाहते समाधान

सीता का हश्र भी हाथरस जैसा होता 
बता दें एक वायरल वीडियो में कल्याण चटर्जी देवी के बार में कह रहे हैं कि एक बार 'सीता ने भगवान राम से कहा था कि अच्छा हुआ मेरा हरण रावण ने किया था न कि उसके चेलों द्वारा, अगर वह मेरा अपहरण करते तो मेरा हश्र भी हाथरस जैसा होता। उनका यह बयान वाली वीडियो वायरल हो रही है।  

Republic day: 26 जनवरी को दिल्ली बॉर्डर पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, बिना परिचय पत्र प्रवेश नहीं

कल्याण बनर्जी के खिलाफ FIR दर्ज
इस पूरी घटना के बाद कल्याण बनर्जी पर भाजपा के नेताओं ने एफआईआर दर्ज कराई है। भाजपा नेता आशीष जायसवाल ने कल्याण बनर्जी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते हुए कहा है कि हम चाहते हैं कि कल्याण सिंह मांपी मांगे और उनके साथ-साथ ममता बनर्जी को भी मांफी मांगनी चाहिए। 

इस विवादित बयान के बाद मैथिली समाज भी काफी नाराज दिख रहा है। हावड़ा के एक मैथली समाज के सदस्य अजय कुमार झा ने कहा है कि अगर कल्याण बनर्जी 24 घंटे के अंदर मांफी नहीं मांगते तो हम लोग उनके खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करेंगे। वह कहते हैं कि उनके बयान से पूरा समाज आहत है।     

WHO ने अपने नक्शे में लद्दाख और जम्मू-कश्मीर को भारत के हिस्से से दिखाया अलग

बीजेपी लगातार रहती है हमलावर
बता दें प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में राज्य में सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच सत्ता को लेकर घमासान जारी है। दोनों पार्टियां लगातार एक दूसरे पर हमलावर रहती है। राज्य में हालात इतने खराब हो जाते हैं कि दोनों लोग एक दूसरे के कार्यकर्ताओं की हत्या करने के भी आरोप लगते है। ऐसे में कभी-कभी दोनों पार्टियां एक- दूसरे पर काफी हमलावर रहती है। इसी का परिणाम है कि राज्य में बीजेपी तेजी से अपनी पकड़ बनाती जा रही है।  


यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.