Wednesday, Oct 16, 2019
what the veteran leader jyotiraditya scindia has the formula to get the congress out of the crisis

जाने दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास क्या है कांग्रेस को संकट से उबारने का फार्मूला

  • Updated on 10/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोकसभा चुनाव (loksabha election) को बीते 5 महीने से भी ज्यादा हो गया है लेकिन मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस (congress) के हालात में कोई खास सुधार नहीं दिख रहा है। एक तरफ सर पर महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (maharshtra assembly election) है तो दूसरी तरफ पार्टी के भीतर से बगावत के सुर सुनने को मिल रहे है। जिससे पता नहीं कांग्रेस कैसे उबरेगी, यह किसी को पता नहीं है। लेकिन इस बीच कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya sindhiya) ने कहा है कि पार्टी को आत्ममंथन करने की आवश्यकता है। उन हालातों का पता लगाना जरुरी है कि आखिर क्यों देश की सबसे पुरानी पार्टी आज कमजोर स्थिति में पहुंच गई है।

राज्यसभा के लिये निर्विरोध निर्वाचित हुए बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी

सलमान खुर्शीद ने भी पार्टी को दी नसीहत

हालांकि ज्योतिरादित्य सिंधिया से पहले भी सलमान खुर्शीद ने भी कांग्रेस के मौजूदा संकट पर दुःख प्रकट किया था। उन्होंने भी कहा था कि पार्टी को नए सिरे से सोचना चाहिये। जिसमें राहुल गांधी की बड़ी भूमिका हो सकती है। सलमान ने तो यहां तक कहा था कि राहुल गांधी को लोकसभा चुनाव में हार के बाद पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा नहीं देना चाहिये था। इससे पार्टी कार्यकर्ताओं के गिरे मनोबल को ओर धक्का पहुंचा है।

 

राफेल पर राजनीतिःजानें कांग्रेस में शस्त्र पूजा पर क्यों बढ़ी तकरार, संजय निरुपम ने किसे कहा नास्तिक

मालूम हो कि महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव होने है। लेकिन कांग्रेस के अंदर की गुटबाजी चरम पर है, जिससे बीजेपी को चुनौती देने में अबतक कांग्रेस नाकाम रही है। महाराष्ट्र में संजय निरुपम ने बागी तैवर अपना लिया है तो हरियाणा में अशोक तंवर ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर चुनावी हलचल तेज कर दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.