Monday, Oct 26, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 25

Last Updated: Sun Oct 25 2020 09:11 PM

corona virus

Total Cases

7,879,950

Recovered

7,091,148

Deaths

118,695

  • INDIA7,879,950
  • MAHARASTRA1,638,961
  • ANDHRA PRADESH804,026
  • KARNATAKA793,907
  • TAMIL NADU706,136
  • UTTAR PRADESH468,238
  • KERALA377,835
  • NEW DELHI352,520
  • WEST BENGAL349,701
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA279,582
  • TELANGANA229,001
  • BIHAR211,443
  • ASSAM203,709
  • RAJASTHAN182,570
  • CHHATTISGARH172,580
  • MADHYA PRADESH165,294
  • GUJARAT165,233
  • HARYANA157,064
  • PUNJAB130,640
  • JHARKHAND99,045
  • JAMMU & KASHMIR90,752
  • CHANDIGARH70,777
  • UTTARAKHAND59,796
  • GOA41,813
  • PUDUCHERRY33,986
  • TRIPURA30,067
  • HIMACHAL PRADESH20,213
  • MANIPUR16,621
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,207
  • SIKKIM3,770
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,219
  • MIZORAM2,359
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
yogi government suspends sdm co ballia firing  pragnt

बलिया गोलीकांड: विपक्ष के हमले के बीच योगी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, SDM-CO को किया सस्पेंड

  • Updated on 10/16/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) में योगी सरकार की सख्ती के बावजूद क्राइमरेट में कमी नहीं आ रही है। प्रदेश के बलिया (Ballia) में दबंगों की फायरिंग की घटना के बाद से ही जिले में सभी के मन में डर का माहौल बना हुआ है। ऐसे में इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने घटना पर कड़ी कार्रवाई करते हुए उपजिलाधिकारी और मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों को निलम्बित कर दिया है।

बलिया गोलीकांड पर अखिलेश यादव ने पूछा- क्या एनकाउंटरवाली सरकार अपने लोगों की गाड़ी पलटाएगी?

कानून-व्यवस्था पर उठे सवाल
विपक्ष ने इस वारदात पर सरकार को घेरते हुए कहा कि सत्ताधारी लोग खुलेआम कानून-व्यवस्था को चुनौती दे रहे हैं और यह घटना प्रदेश में व्याप्त घोर अराजकता की एक और मिसाल है। बलिया के पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ ने बताया कि रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में आज अपरान्ह सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान के चयन को लेकर पंचायत भवन पर बैठक हो रही थी। उन्होंने बताया कि इस चयन के लिये दो स्वयं सहायता समूहों से जुड़े लोग मौजूद थे।उन्होंने बताया कि चयन के दौरान दोनों समूहों से जुड़े लोगों में कहासुनी हो गई।  

बलिया गोलीकांड पर मायावती का योगी सरकार पर हमला, कहा- राज्य में दम तोड़ चुकी है कानून व्यवस्था

SDM-CO सस्पेंड
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस वारदात को गम्भीरता से लेते हुए सम्बन्धित उपजिलाधिकारी सुरेश चंद्र पाल, पुलिस क्षेत्राधिकारी चंद्रकेश सिंह और मौके पर मौजूद सभी पुलिसर्किमयों को निलम्बित करने और घटना के दोषियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई के आदेश दिये हैं। योगी ने कहा कि इस मामले में अधिकारियों की भूमिका की भी जांच होगी और अगर वे जिम्मेदार पाये गये तो उनके खिलाफ भी आपराधिक कार्रवाई की जाएगी।पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस मामले में जय प्रकाश के भाई चंद्रमा की शिकायत पर चार नामजद तथा 15 से 20 अज्ञात व्यक्तियों के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की सुसंगत धारा में मामला दर्ज किया गया है।उन्होंने बताया कि मौके पर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है और मौके पर शांति है।

सिख की पगड़ी खींचने के मामले में घिरी ममता सरकार, बलविंदर की पत्नी देंगी CM ऑफिस के बाहर धरना

बीजेपी पर साधा निशाना
विपक्ष ने इस मुद्दे पर सरकार पर हमला बोल दिया है। मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किये गये ट्वीट में कहा कि सत्ताधीश खुलेआम कानून व्यवस्था को चुनौती दे रहे हैं। पार्टी ने कहा कि बलिया में कानून व्यवस्था को ठेंगा दिखाने वाली खौफनाक वारदात सामने आई है जहां उपजिलाधिकारी और पुलिस क्षेत्राधिकारी के सामने भाजपा नेता ने युवक जय प्रकाश पाल की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस के सामने से गोली मारकर भाजपा नेता फरार भी हो गया।

वृद्ध पेंशनधारकों के लिए CM योगी का बड़ा ऐलान- ऑनलाइन कर सकेंगे लाइफ सर्टिफिकेट आवेदन

कांग्रेस ने मांगा इस्तीफा
कांग्रेस के प्रदेश मीडिया संयोजक ललन कुमार ने इस घटना पर सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि भाजपा सरकार खून से लथपथ है। बलिया की घटना शर्मसार करने वाली है। अधिकारियों के सामने सरेआम हत्या की और वह भाग भी गया। मुख्यमंत्री कार्रवाई का दिखावा करते हैं। वह अपने मंत्रियों और पार्टी कार्यकर्ताओं को कब सलाखों के पीछे भेजेंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के हालात देखकर ऐसा लगता है कि यहां महा जंगलराज चल रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ छोटे अधिकारियों और कर्मचारियों पर तो कार्रवाई करते हैं, मगर वह वारदातों में लिप्त भाजपा नेताओं और वरिष्ठ अफसरों पर कब कार्रवाई करेंगे। अगर मुख्यमंत्री में थोड़ी सी भी शर्म बची है तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिये।

comments

.
.
.
.
.