Monday, Sep 27, 2021
-->
congress-mla-rajkumar-of-uttarakhand-was-broken-by-bjp-became-bjp

उत्तराखंड के कांग्रेस विधायक राजकुमार को BJP ने तोड़ा, हुए भाजपाई

  • Updated on 9/12/2021

-धर्मेंद्र प्रधान, मुख्यमंत्री पुष्कार धामी की मौजूदगी में कराई ज्वाइनिंग
-उत्तरकाशी जिले की पुरोला विधानसभा सीट से विधायक हैं राजकुमार
 

नई दिल्ली /नेशनल ब्यूरो : उत्तराखंड से कांग्रेस विधायक राजकुमार रविवार को भाजपाई हो गए। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक की मौजूदगी में राजकुमार ने भाजपा का दामन थामा। वर्तमान में वह उत्तरकाशी जिले की पुरोला विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक हैं। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कांग्रेस विधायक का भगवा पार्टी में शामिल होने पर स्वागत किया, साथ ही कहा कि भाजपा में शामिल होना एक मात्र संकेत है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री के नेतृत्व में भाजपा आगामी विधानसभा चुनाव जीतेगी। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि विधायक राजकुमार जमीन से जुड़े नेता हैं और उनके भाजपा में शामिल होने से पार्टी को और भी मजबूती मिलेगी।
    भाजपा में शामिल होने के बाद विधायक राजकुमार ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन से प्रेरित हुए हैं और केंद्र और राज्य में भाजपा सरकारों ने विकास के अनेक कार्य किए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा दलितों को आत्मनिर्भर आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में काम कर रही है। आजादी के बाद से ही न लोगों को कांग्रेस ने सब्सिडी पर निर्भर बना दिया है ताकि ये कभी अपने पैरों पर खड़े न हो सकें। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के अलग राजय के रूप में अस्तित्व में आने के बाद भाजपा से जुड़े। वर्ष 2007 में सहसपुर विधानसभा सीट से भाजपा ने उन्हें टिकट दिया ओर वह विजयी होकर विधायक बने। सके बाद 2012 में उन्होंने उत्तरकाशी में पुरोला सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा लेकिन वह चुनाव हार गए। इसके बाद 2017 में उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर चुनाव जीता।
 बता दें कि कुछ दिनों पहले ही भाजपा ने उत्तराखंड के धनौल्टी से निर्दलीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार को पार्टी में शामिल कराया था। पार्टी का दावा है कि अभी और र्क कांग्रेस नेता एवं विधायक भाजपा में शामिल होने को तैयार हैं। उत्तराखंड में अगले साल फरवरी-मार्च में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। यह सारी कवायद उसी चुनाव के मद्देनजर हो रही है। सूत्रों की माने तो भाजपा के अंदर आपसी कलह के चलते पार्टी की स्थिति कमजोर हो गई है, यही कारण है कि भाजपा जोड़तोड़ कर दूसरे दलों के अच्छे नेताओं को पार्टी से जोडऩे का काम कर रही है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.