Friday, Apr 03, 2020
delhi government cm arvind kejriwal will issue hate material being circulated on whatsapp

सांप्रदायिक दंगों की आग बुझाने के लिए केजरीवाल सरकार जल्द जारी करेगी व्हाट्सएप नंबर

  • Updated on 2/29/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर-पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) में सोमवार से शुरू हुई सांप्रदायिक हिंसा में अब तक 42 लोगों की मौत हुई और 250 से अधिक लोग घायल हुए हैं। इस बीच, दिल्ली सरकार (Delhi Government) व्हाट्सएप पर नफरत से भरी बातें फैलाने को रोकने के लिए एक नंबर जारी करने पर विचार कर रही है। सरकार के सूत्रों के अनुसार हालिया हिंसा के बाद राजधानी में नफरत से जुड़ी सामग्रियां काफी ज्यादा फैलाई जा रही हैं।

दिल्ली दंगा प्रभावित लोगों को केजरीवाल सरकार से कितना मिलेगा मुआवजा, जानिए...

फेक सोशल मीडिया संदेश पर नजर
सूत्रों ने शनिवार को बताया कि सरकार लोगों से इस तरह के किसी भी संदेश को आगे नहीं भेजने की अपील करेगी क्योंकि ऐसी किसी भी सामग्री को फॉरवर्ड कर समुदायों के बीच में दुश्मनी पैदा करना एक अपराध है। इस कदम का मकसद सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों पर लगाम लगाना है।

दिल्ली दंगा पीड़ित ऐसे हासिल करें केजरीवाल सरकार की राहत योजना का लाभ

दिल्ली सरकार उठाएगी ये कदम
एक सूत्र ने बताया, 'अगर किसी को भी इस तरह की कोई सामग्री मिलती है, वह तुरंत इसकी शिकायत दिल्ली सरकार को कर सकता है और संदेश भेजने वाले व्यक्ति का नाम और नंबर बता सकता है।' सरकार इस संबंध में व्हाट्सएप नंबर जारी करने पर विचार कर रही है जिसपर ये शिकायतें की जा सकें। सूत्रों ने बताया कि एक अधिकारी सभी शिकायतों को देखेगा और वाजिब शिकायतों को जरूरी कार्रवाई के लिए पुलिस को भेजेगा।

बेघर लोगों को मिलेगी आर्थिक मदद : केजरीवाल

दंगाग्रस्त उत्तरपूर्वी दिल्ली में हालात शांतिपूर्ण
उत्तरपूर्वी दिल्ली में शनिवार सुबह हालात शांतिपूर्ण रहे। स्थानीय निवासी इस सप्ताह की शुरुआत में इलाके में हुए साम्प्रदायिक दंगों में पहुंचे नुकसान से धीरे-धीरे उबरने की कोशिश कर रहे हैं। सुरक्षाकर्मी फ्लैग मार्च निकाल रहे हैं और स्थानीय लोगों का डर खत्म करने के लिए रोज उनसे बातचीत कर रहे हैं। वे स्थानीय निवासियों से सोशल मीडिया पर अफवाहों पर ध्यान न देने तथा उसकी पुलिस में शिकायत करने का अनुरोध कर रहे हैं।

दिल्ली हिंसा में मारे गए लोगों के परिजन को मिलेगी 10 लाख की आर्थिक सहायता

मरने वालों की संख्या 42 पहुंची
बता दें कि दंगा पीड़ितों के रिश्तेदार जीटीबी अस्पताल के मुर्दाघर के बाहर अपने परिजन के शव मिलने के लिए इंतजार में बैठे हैं। उत्तरपूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, चांदबाग, शिव विहार, भजनपुरा, यमुना विहार इलाकों में हिंसा में कम से कम 42 लोगों की मौत हो गई और 200 से अधिक लोग घायल हो गए। संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचा है। उग्र भीड़ ने मकानों, दुकानों, वाहनों, एक पेट्रोल पंप को फूंक दिया और स्थानीय लोगों तथा पुलिस कर्मियों पर पथराव किया।

comments

.
.
.
.
.