Monday, Mar 30, 2020
now preeti tomar will contest elections from trinagar assembly from aap

फर्जी डिग्री विवाद में फंसे AAP विधायक का निर्वाचन रद, पत्नी लड़ेंगी चुनाव

  • Updated on 1/21/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी (AAP) से पूर्व विधायक जितेंद्र सिंह तोमर (Jitendra Tomar) की पत्नी अब त्रिनगर विधानसभा (Tri Nagar) चुनाव लड़ने के लिए मैदान में आ गई है। फर्जी डिग्री होने के चलते दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा जितेंद्र सिंह का निर्वाचन रद्द कर दिया गया था। इसके बाद भी आम आदमी पार्टी ने तोमर को इस चुनाव के लिए त्रिनगर से मैदान में उतारा था। इसकी शिकायत बीजेपी ने चुनाव आयोग में की थी, चुनाव आयोग ने इस मामले में आम आदमी पार्टी को जितेंद्र सिंह तोमर को नामंकन न करने के लिए कहा। जिसके बाद अब तोमर की पत्नी प्रीति तोमर त्रिनगर से चुनाव लड़ेंगी।

 

दिल्ली चुनाव: बग्गा का दावा- 50 से ज्यादा सीटें जीतेगी BJP, केजरीवाल ने डर के कारण लगवाई आग

प्रीति तोमर ने भरा नामांकन
आपको बता दें आम आदमी पार्टी ने नामांकन के आखिरी दिन जितेंद्र सिंह तोमर का टिकट काट दिया गया है और पत्नी प्रीति तोमर ने आज अपना नामांकन दाखिल भी कर लिया है। दिल्ली हाई कोर्ट ने फर्जी डिग्री विवाद के कारण जितेंद्र तोमर के चुनाव को रद्द कर दिया था। इसके बावजूद AAP ने जितेंद्र तोमर को प्रत्याशी बनाया हुआ था, इसके खिलाफ सोमवार को ही बीजेपी चुनाव आयोग पहुंची थी और इस मामले में शिकायत दर्ज करवाई थी।

#DelhiElection2020: CM केजरीवाल ने कहा- करना चाहता हूं दिल्ली का विकास

बिहार में डिग्री रद्द
अपने विधायकों को लेकर सु्र्खियों में रहने वाली आम आदमी पार्टी एक बार फिर से चर्चा में है। दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जितेन्द्र सिंह तोमर की लॉ की डिग्री को बिहार के एक भागलपुर विश्वविद्यालय ने रद्द कर दिया। बुधवार को तिलका मांझी विश्वविद्यालय भागलपुर में परीक्षा समिति की बैठक में इस फैसले पर मुहर लगी। भागलपुर के विवि के परीक्षा बोर्ड ने बुधवार को आपात बैठक बुलाई थी, जिसमें इस बात पर फैसला लिया गया। बुधवार को भागलपुर विश्वविद्यालय के परीक्षा बोर्ड की तीन घंटे चली बैठक में सर्वसम्मति से यह तय हुआ।

दिल्ली चुनाव: बग्गा का दावा- 50 से ज्यादा सीटें जीतेगी BJP, केजरीवाल ने डर के कारण लगवाई आग

बीजेपी ने किया विरोध
बीजेपी के केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल के साथ कई नेता जितेंद्र तोमर के खिलाफ उच्च न्यायालय पहुंचे थे। बीजेपी ने आम आदमी पार्टी पर वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सत्ता के लालच में फर्जी डिग्री मामले में 2015 में गिरफ्तार हो चुके जितेंद्र सिंह तोमर को फिर से टिकट देकर AAP निम्नस्तरीय राजनीति कर रही है। पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने कहा कि जितेंद्र सिंह तोमर को 2015 में दिल्ली सरकार में कानून मंत्री बनाया गया था। दिल्ली पुलिस ने फर्जी डिग्री मामले में गिरफ्तार किया था। इस वजह से कानून मंत्री के पद से तोमर को इस्तीफा देना पड़ा था। 

comments

.
.
.
.
.