Tuesday, Dec 06, 2022
-->
removed-from-assembly-unconstitutionally-ramveer-singh-bidhuri

असंवैधानिक तरीके से निकाला गया विधानसभा से: रामवीर सिंह बिधूड़ी

  • Updated on 8/29/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। विधानसभा के विशेष सत्र में सोमवार को भाजपा विधायकों को सदन से बाहर कर दिया गया। नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि भाजपा विधायकों को फिर से असंवैधानिक तरीके से विधानसभा से निकाला गया। इस मुद्दे पर उन्होंने अन्य भाजपा विधायकों के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता भी की। 

भाजपा राष्ट्रपति और लोकसभा अध्यक्ष के समक्ष करेगी शिकायत

जिसमें बिधूड़ी ने कहा कि केजरीवाल सरकार विपक्षी दल और जनता से जुड़े सवालों के जवाब देने के स्थान पर तानाशाही पर उतर आई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के पास सवालों के जवाब नहीं है। उन्होंने कहा कि विधानसभा बैठक से फिर से भाजपा विधायकों को असंवैधानिक तरीके से मार्शल द्वारा बाहर कर दिया गया और पूरे दिन के लिए निष्कासित कर दिया गया। 

केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव किया पेश, मोदी सरकार पर बोला हमला 

बिधूड़ी ने कहा कि भाजपा के सभी विधायक इस मामले को लेकर राष्ट्रपति के पास जाएंगे और उन्हें बताएंगे कि दिल्ली में किस तरह लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है। भाजपा सदस्य लोकसभा अध्यक्ष से भी मुलाकात करेंगे और यह नियम बनवाने की कोशिश करेंगे कि दिल्ली में पूरे वर्ष में विधानसभा के कम से कम तीन अधिवेशन अवश्य हों और इनकी अवधि 10-10 दिन से कम नहीं हो। अभी एक-एक दिन के अधिवेशन बुलाए जा रहे हैं और उसमें सिर्फ केंद्र सरकार की आलोचना की जा रही है, जनता के मुद्दों पर कोई बात नहीं हो रही। उन्होंने कहा कि भाजपा की तरफ  से चार सदस्यों ने नियम-55 के तहत अल्पकालिक चर्चा के लिए नोटिस दिए थे। जिसमें विजेंद्र गुप्ता, अभय वर्मा, मोहन सिंह बिष्ट और अजय महावर शामिल थे। लेकिन स्पीकर ने इन चारों के नोटिस पर चर्चा कराने से इंकार कर दिया। बिधूड़ी ने कहा कि भाजपा विधायकों ने स्पीकर से इस फैसले पर पुनर्विचार का आग्रह किया लेकिन सभी भाजपा सदस्यों को मार्शल बुलवाकर जबरन बाहर निकाल दिया गया। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.