Wednesday, Oct 05, 2022
-->
sanskar-bharti-will-sing-vande-mataram-across-the-country-on-the-elixir-of-independence

आजादी के अमृत महोत्सव पर देश भर में वंदे मातरम गायन करेगी संस्कार भारती

  • Updated on 4/19/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आरएसएस समर्थित संस्कार भारती पंद्रह अगस्त पर इस बार देश भर में आजादी का अमृत महोत्सव को वंदे मातरम गायन के साथ मनाएगा। जोधपुर में हुई संस्कार भारती की कार्यकारिणी में यह निर्णय लिया गया। अगले माह मई में सिने जगत पर दो दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन भी मुंबई में किया जाएगा। इसमें केंद्रीय मंत्री जी.किशन रेड्डी सहित सिने जगत की कई मशहूर हस्तियां शामिल रहेंगी। साथ ही गुमनाम नायकों पर आधारित 75 नाटक का मंचन भी किया जाएगा।  

2024 की तैयारी! सोनिया से मिलीं महबूबा ..PK संग प्रियंका की लंबी बैठक
संस्कार भारती के वरिष्ठ पदाधिकारी ने बताया कि कार्यकारिणी बैठक में इस पर विचार किया कि लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल के आग्रह पर पंडित ओमकारनाथ ठाकुर के द्वारा आकाशवाणी पर 15 अगस्त 1947 की सुबह 6:30 पर वंदे मातरम का गायन प्रस्तुत किया गया था। उसकी स्मृति में इस वर्ष 15 अगस्त को स्वाधीनता के 75 वर्ष पूरे होने पर प्रात: काल 6:30 बजे वंदे मातरम का गायन संस्कार भारती की कला साधकों द्वारा देशभर में किया जाएगा।

सांप्रदायिक विवाद वालों पर चलेगा महाराष्ट्र पुलिस का डंडा, भड़काऊ भाषण देने पर होंगे गिरफ्तार 

उन्होंने कहा कि इसके अलावा बैठक में कला एवं कला क्षेत्र से संबंधित विभिन्न विषयों पर गहन चिंतन मनन भी किया गया। खासतौर पर कोरोना महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों द्वारा देश भर में कलाओं की प्रत्यक्ष प्रस्तुति पर पाबंदियों की वजह से पेश आ रही दिक्कतों को देखते हुए कलाकारों के समक्ष जीवन-यापन एवं जीवन रक्षा से जुड़े प्रस्ताव पारित किये गए। इसमें तय हुआ कि केंद्र सरकार, राज्य सरकारों, कला संस्थाओं एवं समाज के अन्य वर्ग कला जगत के उत्थान के लिए प्रत्यक्ष कार्यक्रम का आयोजन करें। रुकी हुई विभिन्न प्रकार की छात्रवृत्तियां, फैलोशिप, सम्मान, आकाशवाणी के कार्यक्रम, मंदिरों में होने वाले कार्यक्रम तथा कला साधकों की पेंशन इत्यादि शीघ्र प्रारंभ होनी चाहिए। आह्वान किया कि कोरोना काल में रुका नियमित कार्यक्रम को तथा अमृत महोत्सव के विशेष आयोजन शीघ्रता से शुरु किये जाएं। 

गुमनाम नायकों पर आधारित नाटक का भी मंचन होगा 

संस्था के पदाधिकारी ने बताया कि स्वाधीनता का अमृत महोत्सव के तहत देश भर में 75  गुमनाम नायकों के जीवन प्रसंगों पर 75 नाटकों का मंचन भी किया जाएगा। इसमें से अब तक 11 भाषाओं के 51 नाटक तैयार हो चुके हैं और उनमें से 17 नाटकों का मंचन हो चुका है। उन्होंने कहा कि 13- 14 मई को मुंबई में सिने-टॉकीज  सेमिनार का आयोजन किया जाएगा, जिसमें भारतीय सिनेमा का स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान  विषय पर विस्तृत चर्चा भी होगी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.