Monday, Feb 06, 2023
-->
shri-ram-s-life-is-ideal-and-dignified-adesh-gupta

आदर्श एवं मर्यादा युक्त है श्रीराम का जीवन:आदेश गुप्ता

  • Updated on 8/28/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भाजपा नेताओं ने अलग-अलग स्थान पर रविवार को रामलीला आयोजन के लिए भूमि पूजन किया। अशोक विहार फेज-2 में आदर्श रामलीला कमेटी के कार्यक्रम में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता, वरिष्ठ नेता श्याम जाजू, प्रदेश प्रवक्ता सतीश गर्ग ने भूमि पूजन किया। आदेश गुप्ता ने इस अवसर पर कहा कि श्री राम का जीवन आदर्श एवं मर्यादाओं युक्त है।

यूनेस्को सूची में दुर्गापूजा शामिल होने राष्ट्रीय संग्रहालय में मना जश्न 

उन्होंने कहा कि राम केजीवन चरित्र में हमें हर उम्र और हर संबंध के आधार पर आदर्श जीवन को जीने की सीख भी मिलती है। राम ने शक्तिशाली होते हुए भी विनम्रता का कभी त्याग नहीं किया। साथ ही नारी सम्मान की सीख भी उन्होंने दी। हमें उनके जीवन से सीख लेनी चाहिए।

भाजपा नेताओं ने किया रामलीला स्थल का भूमि पूजन 

श्याम जाजू ने कहा कि श्री राम का जीवन हम सभी के लिए प्रेरणादायक है। सतीश गर्ग ने कहा कि रामायण का प्रत्येक प्रसंग प्रेरणा का श्रेष्ठतम स्रोत है। उन्होंने अयोध्या में श्रीराम मंदिर बनने की बधाई भी दी। भूमि पूजन वैदिक रीति रिवाज के बीच मंत्रोच्चारण के साथ संपन्न हुआ। इस दौरान रामलीला के पदाधिकारियों ने मंचन से जुड़े कलाकारों को कलावा बांध कर अनुबंधित किया। 

गरीब परिवार के बच्चे भी सेना में अधिकारी बन करेंगे देश सेवा : केजरीवाल

उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी ने शास्त्री पार्क और डेरा बाल नगर में रामलीला के लिए भूमि पूजन किया। उन्होंने इस दौरान कहा कि भगवान राम के जीवन चरित्र में हमें त्याग, तपस्या, बलिदान और बुराई से लडऩे का साहस मिलता है। उन्हेंाने कहा कि राम के आदर्श को जीवन में उतारकर कई कुरीतियों पर विजय प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही देश में समृद्धि एवं सुराज की स्थापना में योगदान दे सकते हैं। रामलीला के अध्यक्ष अशोक गर्ग व महामंत्री अनिल यादव, निर्देशक नितिन बत्रा, चेयरमैन ओमप्रकाश गोयंका, मुख्य संरक्षक अरुण बंसल एवं प्रचार अध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह आदि शामिल रहे। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.