these-reasons-can-cause-hepatitis-diseases-know-how-to-stop-this-problem

World Hepatitis Day 2019: इस कारण से होता है हेपेटाइटिस का खतरा, जानें कैसे होगी रोकथाम

  • Updated on 7/27/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। विश्व (world) में हर साल 28 जुलाई को वर्ल्ड हेपेटाइटिस दिवस (World Hepatitis day) के रुप में बनाया जाता है। सरकार की लाखों कोशिशे और इतनी जागरुकता (Awareness) फैलाने के बाद भी हर साल करीब 14 लाख लोगों की मौत हो जाती है। हेपेटाइटिस को रोकने के लिए कई तरह के इलाज (Treatment) भी है लेकिन 80 फीसदी लोगो इसके बारे में नहीं जानते है और सरकार (Government) द्वारा दी गई सुविधाओं (Facility) का फायेदा नहीं उठा पाते हैं।

अगर आपको भी है डस्ट से एलर्जी तो ये चीजें करेंगी आपकी मदद

लापरवाही के कारण बढ़ रही बीमारी

हमारा देश में लापरवाही के कारण ही काफी बीमारियों (diseases) को बढ़ावा मिल रहा है। ज्यादातर मामले  में असुरक्षित इंजेक्शन के इस्तेमाल से दुसरे शख्स की बीमारी किसी और को लग जाती है। जो काफी चिंता का विषय है। दुनिया भर में 33 प्रतिशत मामलों में इंफेक्टेड इंजेक्शन (Injection) से हेपेटाइटिस बी (Hepatitis day) और 45 प्रतिशत हेपेटाइटिस सी होता है और गलत इंजेक्शन के कारण बेपटाइटिस बी और सी का कारण बन जाती है।

मानसून के सीजन में घातक हो जाते हैं डेंगू के मच्छर, ऐसे करें बचाव

क्या है हेपेटाइटिस 

हेपेटाइटस बी (Hepatitis B) और सी आम तौर पर पाए जाने वाले वायरस (Virus) हैं और इनसे क्रॉनिक बीमारी (Cronic diseases) होती है। हेपेटाइटस मां से होने वाले बच्चे को हो सकती है, यौन संबंधों के दौरान हो सकती है और संक्रमित रक्त से भी हो सकती है। हाल ही में हुए एक शोध (Research) के अनुसार पूरी दुनिया में हर साल 1.4 लाख लोग वायरल (Viral) हेपेटाइटस से अपनी जांन गवाते हैं।

बिहार : हर साल बाढ़ के बाद आती है ये भयंकर बीमारी, इलाज की नहीं है कोई व्यवस्था

कैसे होगी इसकी रोकथाम?

सरकार (Government) का भी रवैया इस समस्या को लेकर ढुलमुल है क्योंकि इस बल पर इसे बड़े पैमाने पर अंजाम दिया जा रहा है। सरकार को चाहिए जल्द से जल्द ऑटो डिसेबल (एडी) सिरिंज के इस्तेमाल को जरूरी कर दें। ये एक ऐसी सिरेंज है जिसके एक बार इस्तेमाल से दोबारा ऑटोमेटिक रुप से प्रयोग में नहीं ला सकते हैं।

मानसून के सीजन में अपने बच्चों की सेहत का रखें कुछ इस तरह ख्याल

हेपेटाइटिस (Hepatitis) में लीवर की कोशिकाओं से सूजन (Swelling) आ जाती है जिससे लीवर (Lever) के डैमेज होने की भी खतरा रहता है। अगर इसके चलते लापरवाही की जाए तो लीवर कैंसर (Lever Cancer) का भी खतरा बढ़ जाता है। भारत में इससे लड़ने के लिए लंबे समय से टीकाकरण किया गया लेकिन इसके बाद भी कई मामलें सामने आए। भारत में 4 से 5 करोड़ लोग हेपेटाइटिस बी बीमारी से ग्रस्त हैं।

comments

.
.
.
.
.