Sunday, Apr 05, 2020
this chaitra navratri follow this rule

इस नवरात्रि पर इन नियमों का करेंगे पालन, तो कोरोना कहर भी हो सकता है शांत

  • Updated on 3/23/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हर साल नवरात्रों का त्यौहार धुम धाम से मनाया जाता है। बता दें कि हर साल नवरात्र  चार बार आते हैं। नवरात्रों को लेकर माता के भक्तों में काफी ज्यादा उत्साह देखा जाता है। नवरात्रि में भक्त माता की उपासना के लिए 9 दिनों तक उपवास रखते है। इस साल नवरात्रि 25 मार्च से शुरु हो रहे है। तो हम आपको नवरात्रि से जुड़ी कुछ नियम के बारे में बताएंगे जिसे अपना कर आप माता को खुश कर सकते है... 

जानें कब है गुप्त नवरात्रि, जब 30 साल बाद शनि अपनी मकर राशि में रहेगा

जानें नवरात्रि के नियम क्या हैं?

  • नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री के रुप में मनाया जाता है।  
  • नवरात्रि के समय घर में भजन पाठ करना चाहिए।
  • नवरात्रि के अवसर पर खान पान में फल का इस्तेमाल करे
  • कलश की स्थापना करते समय जल में सिक्का जरुर डालें
  • याद रहे कलश पर नारियल रखें और मिट्टी लगाकर जौ बोएं
  • कलश के पास आप अखंड दीपक जरूर रखे।
  • नवरात्रि में उपवास पूरे होने पर कंचक बठाए, जिसमें नौं कन्या को पूजा जाता है।
  • नवरात्रि के आखरी दिन हलवा, पूरी और चना का भोग लगाया जाता है।
  • नवरात्रि के अवसर पर माता के मंदिर पर दर्शन करना शुभ माना जाता है।
  • कहा जाता है कि नवरात्रि के दौरान जीवन के समस्त भागों और समस्याओं पर नियंत्रण किया जा सकता है।  

    Maha Navami 2019: आखिरी दिन होती है मां सिद्धिदात्री की पूजा, ये है कन्या पूजन का समय

    किस समय कलश स्थापना करें
    आपको बता दें कि कलश की स्थापना चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को की जाती है, इस बार पंडित के अनुसार प्रतिपदा तिथि यानी 25 मार्च को है। लेकिन प्रतिपदा सायं 05.26 तक ही रहेगा। इसलिए कलश की स्थापना सायं 05.26 के पूर्व कर ली जाएगी तो ज्यादा अच्छा रहेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.