Saturday, Oct 01, 2022
-->
Bindra should not interfere in boxing Mary Kom

मुक्केबाजी में बिंद्रा को हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए: मेरीकोम

  • Updated on 10/19/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारतीय स्टार महिला मुक्केबाज एम सी मेरीकोम (MS Mary kom) ने शनिवार को ओलंपिक चैम्पियन निशानेबाज अभिनव बिंद्रा (Abhinav Bindra) के निकहत जरीन की मांग का समर्थन करने को लेकर निराशा व्यक्त की और कहा कि उन्हें मुक्केबाजी में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। 

Birthday Special : जानिए ‘मुल्तान के सुल्तान’ के करियर से जुड़े 10 अनसुने किस्से

गुरूवार को बिंद्रा ने जरीन की छह बार की विश्व चैम्पियन मुक्केबाज (World Championship Boxing) के खिलाफ ट्रायल कराने की मांग का समर्थन किया था लेकिन ओलंपिक कांस्य पदकधारी मेरीकोम को यह बात पसंद नहीं आयी। मेरीकोम ने कहा, ‘‘बिंद्रा ओलंपिक स्वर्ण पदक जीत चुके हैं लेकिन मैंने भी विश्व चैम्पियनशिप में कई स्वर्ण पदक जीते हैं।

Ind vs SA 3rd Test: भारत का स्कोर 200 के पार, रोहित शर्मा का शतक

मुक्केबाजी में हस्तक्षेप या दखल देना, उनका इससे कोई लेना देना नहीं है। मैं निशानेबाजी (Shooting) के बारे में बात नहीं करती इसलिये उनके लिए बेहतर यही होगा कि वह मुक्केबाजी पर चुप रहें। वह मुक्केबाजी के नियम नहीं जानते।’’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘‘वह मुक्केबाजी के बारे में कुछ नहीं जानते। इसलिये बेहतर होगा कि चुप रहें। मुझे नहीं लगता कि अभिनव भी हर निशानेबाजी टूर्नामेंट से पहले ट्रायल्स के लिये जाते होंगे। ’’

भारत की तरह लंबी पारियां खेलना चाहते हैं : डुप्लेसिस

बिंद्रा और जरीन दोनों अलग अलग क्षमताओं में जेएसडब्ल्यू से जुड़े हुए हैं। बिंद्रा ने ट्वीट किया था,‘‘ मेरीकोम का मैं पूरा सम्मान करता हूं लेकिन खिलाड़ी को अपने कैरियर में बार बार सबूत देने पड़ते हैं। यह सबूत कि हम आज भी कल की तरह खेल सकते हैं। कल से बेहतर और आने वाले कल से बेहतर। खेल में बीता हुआ कल मायने नहीं रखता।’’ 

comments

.
.
.
.
.