Thursday, Oct 29, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 29

Last Updated: Thu Oct 29 2020 04:02 PM

corona virus

Total Cases

8,041,014

Recovered

7,314,209

Deaths

120,583

  • INDIA8,041,014
  • MAHARASTRA1,660,766
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA812,784
  • TAMIL NADU716,751
  • UTTAR PRADESH474,054
  • KERALA411,465
  • NEW DELHI370,014
  • WEST BENGAL361,703
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA287,099
  • TELANGANA234,152
  • BIHAR214,163
  • ASSAM205,237
  • RAJASTHAN191,629
  • CHHATTISGARH181,583
  • GUJARAT170,053
  • MADHYA PRADESH168,483
  • HARYANA162,223
  • PUNJAB132,263
  • JHARKHAND100,224
  • JAMMU & KASHMIR92,677
  • CHANDIGARH70,777
  • UTTARAKHAND61,261
  • GOA42,747
  • PUDUCHERRY34,482
  • TRIPURA30,290
  • HIMACHAL PRADESH21,149
  • MANIPUR17,604
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,274
  • SIKKIM3,863
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,227
  • MIZORAM2,359
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
birthday anil kumle birthday special cricket sports sobhnt

Birthday Special : भारत के सबसे कामयाब गेंदबाज कैसे बने अनिल कुंबले

  • Updated on 10/16/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारतीय क्रिकेट (Cricket) टीम के जंबो कहे जाने वाले स्टार गेंदबाज अनिल कुंबले (Anil Kumble) आज अपना 50 वां जन्मदिन मना रहे हैं। वह भारतीय टीम के ऐसे पहले गेंदबाज हैं जिन्होंने एक पारी में अकेले 10 विकेट लिए हैं। इसके अलावा उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 619 विकेट लिए हैं और वनडे में 350 बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया है। 

अनिल कुंबले का जन्म 1970 में बैंगलोर के कृष्णा स्वामी और सरोजा के घर पर हुआ था। कुंबले को पैतृक गांव को नाम कुंबला है जिन पर उनका नाम कुंबले रखा गया है। उन्होंने इसके अलावा मेकैनिकल इंजीनियरिंग ( Mechanical Engineering) की पढ़ाई पूरी की है।

कुंबले ने अपने करियर की शुरुआत 1989 में फस्ट क्लास क्रिकेट खेल कर की थी। उन्होंने हैदराबाद (hyderabad)  के खिलाफ डेब्यू किया था। जिसमें उन्होंने चार विकेट लिए थे। जिसके बाद वह अंडर 19 के लिए पाकिस्तान के खिलाफ चुन लिए गए थे और 1990 आते आते उन्होंने अपना पहला इंटरनेशनल वनडे मैच खेला था। 


कुंबले ने उस समय सब को चौंका दिया था। जब वह 1999 में दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में पाकिस्तान के खिलाफ एक पारी में 10 विकेट लेने का कमाल किया था। इससे पहले 1956 में एक इंग्लैंड के गेंदबाज ने भी कमाल किया था। हालांकि अनिल कुंबेल ने उसकी तुलना में कम ओवरों को इस्तेमाल किया था। 



अनिल ने अपने जीवन में ऐसा भी काम किया है जो कोई दूसरा नहीं कर सकता है। 2002 में  एंटिगा टेस्ट में टीम इंडिया का मुकाबला वेस्टइंडीज से था। इस टेस्ट में खेलते समय अनिल कुंबले के जबड़े में चोट लग गई थी। लेकिन फिर भी वे मुंह पर बैंडेट और पट्टिया लगाकर बॉलिंग करने उतरे। उन्होंने चौदह ओवर डाले जिसमें उन्होंने ब्रायन लारा को एलपीडब्ल्यू आउट कर विकेट लिया। इस घटना के बाद अनिल कुंबले एक रीयल हीरो बनकर देश में आए। 


कुंबले ने 2008 में क्रिकेट से सन्यास ले लिया था। जिसके  बाद वह आईपीएल में चले गए थे। इसके अलावा वह एक साल के लिए भारतीय क्रिकेट टीम के चीफ कोच भी बने। इसके अलावा कुंबले वर्तमान में आईसीसी की क्रिकेट कमेटी के प्रमुख है और अब आईपीएल 2020 में आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) के चीफ कोच का पद संभालेंगे।

comments

.
.
.
.
.